इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। आठ दिसंबर को एमपी बोर्ड की अर्द्धवार्षिक परीक्षा और पीएटी का पेपर एक ही दिन होने के कारण प्रदेश के छात्रों को परेशान होना पड़ रहा है। आठ दिसंबर को एमपी बोर्ड के कक्षा 12वीं का केमिस्ट्री का पेपर रखा गया है, जबकि इसी दिन पीएटी की परीक्षा होने के कारण जो इस परीक्षा में शामिल होना चाहते है, उनके लिए मुश्किल हो रही है। यही वजह है कि अध्यापक अधिकार संघ ने बोर्ड परीक्षा या पीएटी की परीक्षा को बदलने की मांग की है।

संघ के प्रदेश अध्यक्ष भारत भार्गव व अध्यापक संघर्ष समिति के जिम्मी सक्सेना के मुताबिक प्रदेश भर में आठ दिसंबर को होने वाली पीएटी (प्री एग्रीकल्चर टेस्ट) व वर्तमान में जारी अर्द्धवार्षिक का केमिस्ट्री का पेपर एक ही दिन होने से पीएटी की परीक्षा में भाग लेने वाले मेथ्स, बायो और एग्रीकल्चर के छात्र अत्यंत संशय व परेशानी में हैं। एक ही दिन स्थानीय अध्ययनरत स्कूल व पीएटी की परीक्षा होने के कारण कई छात्र एक साथ दोनों परीक्षा में शाामिल नहीं हो पाएंगे।

पीएटी की परीक्षा का सेंटर अन्य शहरों (लगभग डिस्टिक स्तर पर) होने से बोर्ड की अर्द्धवार्षिक परीक्षा देने से भी छात्र वंचित रह जाएंगे। ऐसे में स्कूल शिक्षा विभाग व पीएटी की परीक्षा आयोजित करने वालों को इस मामले में अविलंब संज्ञान लेकर परीक्षा तारीख को आगे बढ़ाना चाहिए। इस संबंध में हमारे संगठन की शासन से मांग है कि दोनों परीक्षाओं की तारीखों में परिवर्तन किया जाए। बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल जारी होते समय इस तरह की परीक्षाओं का ध्यान रखा जाना चाहिए।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local