Choral Forest Range: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंद्रह दिन पहले चोरल रेंज में आने वाले बाईघाट वनक्षेत्र में अवैध लकड़ी कटाई का मामला सामने आया था। जांच के दौरान दल को लकड़ी माफिया की करतूत का पता चला, जिसमें पेड़ों को काटने के अलावा लकड़ी के छोटे-छोटे टुकड़े किए। लकड़ी चोरों ने जंगल में पार्टी भी की थी। हालांकि, पूरे मामले में लकड़ी चोरों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

दरअसल, नवंबर के अंतिम सप्ताह में बाईघाट में पेड़ काटने की सूचना चोरल रेंज को मिली थी। मौके का निरीक्षण करने पर पता चला कि 40-50 हेक्टेयर जंगल के दायरे में लकड़ी चोरों ने जगह-जगह पेड़ों को काटा है। सूत्रों के मुताबिक, पेड़ को मशीन से काटने के बाद लकड़ी चोरों ने छोटे-छोटे टुकड़े किए। यह काम कुल्हाड़ी से करने के प्रमाण मिले हैं। आस-पास के इलाके में शराब की कुछ बोतलें भी पाई गई हैं, जबकि जंगल में वाहन के टायर के निशान भी दिखे हैं। निरीक्षण करने पर कई पेड़ कटे हुए मिले, लेकिन स्टाफ ने महज एक दर्जन पेड़ काटने की बात सरकारी रिकार्ड में दर्ज की है। अवैध कटाई के बारे में डीएफओ नरेंद्र पंडवा को जानकारी मिली तो उन्होंने तत्काल टीम को भेजकर जंगल का निरीक्षण करवाया। अब लकड़ी चोरों की तलाश वन विभाग ने शुरू कर दी है। बाईघाट से लगे गांवों में आरोपितों के लिए दबिश दी गई है।

चंदन चोर भी पकड़ से दूर

इंदौर के नवरतन बाग में चार दिन पहले चोरों ने वन अफसर के बंगले के परिसर में लगा चंदन का पेड़ काट दिया। चोरों ने डीएफओ और एसडीओ के बंगले में लगे पेड़ों को भी नुकसान पहुंचा। बुधवार को घटना का पता लगने के बाद जांच शुरू हुई, लेकिन चोर अभी पकड़ से दूर हैं। वैसे मामले में वन विभाग ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवा रखी है। चोरों को पकड़ने के लिए कार्यालय के आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी देखे गए हैं।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close