- रुपए नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी

इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गैंगस्टर ने बीस लाख की प्रोटेक्शन मनी के लिए शहर कांग्रेस के महामंत्री व होटल व्यवसायी को फोन पर धमकी दी है। रुपए नहीं देने पर होटल बंद करने और जान से मारने की बात कही। गैंगस्टर पर शहर के कई थानों में दर्जनों अपराध दर्ज हैं । गुंडे ने राजस्थान में एक सिपाही की हत्या की है। वह ग्वालियर की गैंग से जुड़ा हुआ है। एसएसपी के आदेश पर क्राइम ब्रांच ने उसे पकड़ लिया।

राजेंद्र नगर थाना पुलिस ने रविवार रात होटल व्यवसायी हर्षित पिता अरुण शर्मा निवासी शिक्षक नगर एयरपोर्ट रोड की शिकायत पर गुंडे सचिन तोमर निवासी हम्माल कॉलोनी देवगुराड़िया के खिलाफ केस दर्ज किया है। हर्षित ने बताया उसने दो पार्टनर मोहित और मयंक के साथ मिलकर मां विहार कॉलोनी में हुकुम साहब रेस्टोरेंट खोला है। शनिवार शाम चार बजे गुंडे ने उसे फोन लगाया था। खुद का नाम सचिन तोमर बताया और 20 लाख रुपए गुंडा टैक्स की मांग की। उसने धमकाया कि पैसे नहीं दिए तो दिक्कत हो जाएगी। उसके बारे में छावनी इलाके में पूछताछ कर लेना। इसके बाद रात 11 बजे के बीच करीब 12 से 14 बार फोन लगाया। रविवार को एक बदमाश होटल आ गया। उसने रिवॉल्वर लहराई और खुद को तोमर का आदमी बताया। उसने कहा होटल चलाना है तो 20 लाख रुपए देने पड़ेंगे। रुपए नहीं मिलने पर होटल पर ताला लगा दूंगा। समय पर पैसा नहीं मिला तो गोली मारकर हत्या कर देंगे। गुंडे ने साझेदारों को भी फोन लगाकर धमकाया था। हर्षित के मुताबिक, वह शहर कांग्रेस महामंत्री है। इसके बाद पूरे मामले की शिकायत एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र को की। सूत्र बताते हैं कि पुलिस ने गुंडे और उसके एक साथी को पकड़ लिया है। हालांकि एएसपी अमरेंद्र सिंह चौहान के मुताबिक, मामले में जांच चल रही है।

राजस्थान में सिपाही की कर चुका है हत्या

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, गुंडे के खिलाफ संयोगितागंज, रावजी बाजार, भंवरकुआं सहित कई थानों में दो दर्जन से अधिक अपराध दर्ज हैं। वह कार बाजार के व्यापारियों से हफ्ता वसूली करता है। वह ग्वालियर के बड़े अपराधियों की गैंग के साथ मिलकर वारदात करता है। राजस्थान में फरारी काटने के दौरान उसने एक सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसे जयपुर में चेकिंग के लिए रोका गया था। पुलिस से बचने के लिए उसने गोली चला दी थी। तब पुलिस ने उसे पकड़ लिया था। वह जेल में सजा काटने के बाद इंदौर लौट आया। यहां व्यपारियों को धमकाना और जमीन से जुड़े मामले निपटाने लगा। गुंडा कुख्यात गैंगस्टर रामसिंह उर्फ दद्दू का साथी रहा है। रामसिंह को पुलिस ने व्यापारी से वसूली कर भागने समय गोली मार दी थी। इसके बाद तोमर ने अपनी गैंग तैयार कर ली।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags