इंदौर। राधिकाकुंज जमीन घोटाले में पुलिस ने पूर्व पार्षद के पति सहित तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। उस पर फर्जी दस्तावेजों से कब्जा कर मुख्तियार के साथ लोगों को धमकाने का आरोप है। दो अन्य आरोपितों को हथियारों की खरीद-फरोख्त और मुख्तियार की मदद करने के आरोप में पकड़ा है।

विजय नगर टीआई तहजीब काजी के मुताबिक, अनुराग नगर निवासी नरपत लोढा, धनपत लोढा सहित आठ लोगों की शिकायत पर बदमाश मुख्तियार सहित पूर्व पार्षद कमलेश चौहान के पति अमर सिंह, समीर लाला, फिरोज व जावेद के खिलाफ केस दर्ज किए थे।

शनिवार रात पुलिस ने अमर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उस पर आरोप है कि राधिकाकुंज में सैकड़ों वर्गफीट के बड़े प्लॉट पर मुख्तियार की मदद से कब्जा कर लिया। प्लॉट मालिक द्वारा विरोध करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी और उक्त प्लॉट को किराए पर दे दिया। टीआई के मुताबिक, मुख्तियार के सहयोगी फिरोज पिता हुसैन खान निवासी रुस्तम का बगीचा और शाहरुख पिता अनवर खान निवासी रामगंज जिंसी को भी गिरफ्तार किया है। आरोपित मुख्तियार के साथ ही रहते थे। उसके इशारे पर लोगों को धमकाते थे। फिरोज ने कालू नामक युवक से एक पिस्टल भी दिलाई थी।

घोटाले के दस्तावेज ले गई मुख्तियार की पत्नी

विजय नगर पुलिस ने शनिवार को मुख्तियार की तीन कारों को जब्त किया। एक कार को थाना परिसर में कवर से ढंक कर रखा गया है। इस कार का बाईं तरफ का कांच फूटा हुआ है। बताया जाता है पुलिस ने कार जब्त करने में देरी कर दी। यह कार मुख्तियार के घर के बगल में खड़ी थी। उसमें राधिकाकुंज जमीन घोटाले के कागजात रखे हुए थे। जैसे ही मुख्तियार की गिरफ्तारी हुई उसकी पत्नी नाजबीन शेख ने कांच फोड़ कर दस्तावेज निकाल लिए।

पंकज की निशानदेही पर दस्तावेज जब्त कर लाई पुलिस

टीआई काजी के मुताबिक, आरोपित पंकज श्रीराम खंडेलवाल भी रिमांड पर है। उस पर भी मुख्तियार के साथ फर्जीवाड़ा करने का आरोप है। पुलिस ने पंकज के घर की तलाशी लेकर आम मुख्तियारनामा व अन्य दस्तावेज जब्त कर लिए हैं।