इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

आभूषण कारोबारी का नौकर आठ लाख के हीरे लेकर भाग गया। कारोबारी ने नौकर को हीरे पॉलिशिंग करवाने सराफा भेजा था। पुलिस मोबाइल के आधार पर 14 दिन से छानबीन कर रही है। जानकारी जुटाने पर पता चला कि नौकर पूर्व में भी हेराफेरी का आरोपित रहा है।

पलासिया थाना पुलिस के मुताबिक कारोबारी अजय खंडेलवाल ने आरोपित सावन उर्फ धर्मेंद्र यादव निवासी मल्हारगंज के खिलाफ हेराफेरी की शिकायत दर्ज करवाई है। अजय का पत्रकार कॉलोनी में सोना-चांदी और हीरे के आभूषणों का व्यवसाय है। उन्होंने पुलिस को बताया कि 3 सितंबर को नौकर सावन को हीरे का गजरा, टॉप्स, चूड़ियां देकर पॉलिश करवाने सराफा भेजा था। कुछ देर बाद दुकानदार को कॉल कर आभूषणों के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि सावन यहां आया ही नहीं। सावन को कॉल किया तो उसका मोबाइल बंद आया। छानबीन करते हुए उसके घर पहुंचे तो परिजन ने कहा कि वह तीन साल से घर ही नहीं आया है। घटना के बाद उसका फोन बंद ही आ रहा है। एएसआई अंतरसिंह सोलंकी के मुताबिक आरोपित के बारे में जानकारी मिली है कि वह पहले जेल रोड पर काम करता था। यहां भी उसने हेराफेरी की और फरार हो गया। अजय के मुताबिक सावन को पिता सुरेश खंडेलवाल की कार चलाने के लिए रखा था। एक बार शक हुआ और घर के बारे में पूछा तो बाहर से ही बताकर रवाना कर दिया।