इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राष्ट्रीय विधि संस्थान विश्वविद्यालय (एनएलयू) में प्रवेश के लिए होने वाली संयुक्त विधि प्रवेश परीक्षा (क्लैट) के परिणाम में शहर के हितांश शर्मा को आल इंडिया 330 रैंक मिली है। हितांश की सामान्य वर्ग में प्रदेश रैंक 37 है। पिछले वर्षों में इंदौर से क्लैट में टाप 100 में दो से तीन नाम आते रहे हैं, लेकिन इस बार कोई बड़ी रैंक सामने नहीं आ पाई है। 19 जून को हुई परीक्षा में देशभर से करीब 60 हजार और शहर से करीब 1300 विद्यार्थी शामिल हुए थे। देशभर के एनएलयू की करीब 1800 सीटों पर विद्यार्थियों को प्रवेश मिलता है। एनएलयू में टाप 500 रैंक तक आने वाले विद्यार्थियों को ही प्रवेश मिल पाता है।

हितांश सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम में करना चाहते हैं नौकरी - हितांश का कहना है कि मैं एलएलबी और एलएलएम डिग्री कर चुका हूं और एक कालेज में शिक्षक हूं। क्लैट के स्कोर कार्ड के कई लाभ हैं। कई सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम में क्लैट स्कोर कार्ड वालों को वरीयता दी जाती है इसलिए क्लैट यूजी के लिए परीक्षा दी थी। हितांश किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम में नौकरी करने की इच्छा रखते हैं। परीक्षा के विशेषज्ञ आशीष नायक का कहना है कि हर वर्ष शहर के दो से तीन विद्यार्थियों को बेहतर रैंक मिलती है, लेकिन इस बार अच्छी रैंक नहीं आई है। हालांकि विद्यार्थियों के ई-मेल पर स्कोर कार्ड भेजा जाता है ऐसे में हो सकता है कि अच्छी रैंक सामने आने में थोड़ा समय लगे।

जल पुनर्भरण प्रणाली लगाने का काम 10 जुलाई तक पूरा करने का लक्ष्य

इंदौर। नगर निगम द्वारा शहर के रहवासी व व्यावसायिक इमारतों में जल पुनर्भरण प्रणाली लगाना अनिवार्य किया गया है। शनिवार को निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने जल पुनर्भरण प्रणाली के कार्यों की समीक्षा की। आयुक्त ने उद्योग, मैरिज गार्डन, अस्पताल, होटल, रेस्त्रां, माल, बहुमंजिला इमारत, स्कूल, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में शतप्रतिशत जल पुनर्भरण प्रणाली लगाने के निर्देश निगम अफसरों को दिए। जोन स्तर पर अधिकारियों को इसे 10 जुलाई तक पूरा करने के निर्देश भी दिए।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close