इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी मंगलवार को मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में थे। देश के नंबर वन स्वच्छ शहर इंदौर की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, 'हम पटना को इंदौर की तरह सफाई में अव्वल शहर बनाएंगे। मैं इंदौर की सड़कों पर घूमा लेकिन कहीं भी तिनका तक दिखाई नहीं दिया। इंदौर शहर ने सफाई के मामले में नजीर पेश की है। मैं इंदौर को सफाई में 100 में से 100 अंक देता हूं।

मोदी ने इंदौर के स्मार्ट सिटी ऑफिस में कहा कि वह बहुत दिनों से सोच रहे थे कि इंदौर में सफाई को लेकर किए गए कामों को देखें। पहली बार मैदानी स्तर पर शहर की सफाई व्यवस्था को देखने का मौका मिला। हमने बिहार में सफाई के लिए इंदौर की तरह शुरुआत की है लेकिन इसमें कई दिक्कतें आ रही हैं, जैसे कर्मचारी हड़ताल पर चले गए कि हमें स्थायी करो। सफाई के क्षेत्र में काम करने वाली बड़ी-बड़ी कंपनियां घूम रही हैं और दावा करती हैं कि हम कचरे से बिजली बना देंगे, ऐसा कर देंगे। मैंने पूछा कि देश में कहीं काम किया है क्या? इंदौर शहर ने सफाई की मूल बात छंटाई को पकड़ा। इंदौर शहर ने एक बार जो तय किया उसे करके दिखा दिया।

वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील मोदी बोले कि यदि 2010 में एनपीआर बनाना उचित था तो अब ये अनुचित कैसे हुआ? कोई भी राज्य सरकार इसके लिए इनकार नहीं कर सकती है। जनगणना के जो आंकड़े इकट्ठा करते हैं उसके साथ कोई खिलवाड़ नहीं किया जाता। एनपीआर में दलित व गरीबों की संख्या कितनी है, कितने पक्के मकान है, किसके घर में टीवी है, ऐसे ही सवाल हैं। एनपीआर का विरोध करने वाले मौका तलाश रहे कि नरेंद्र मोदी की हर बात का कैसे विरोध करें? सीएए का एनपीआर से कोई संबंध नहीं है। हर जनगणना में कुछ नए सवाल जोड़े जाते हैं, इसमें आपत्ति क्या है?

मोदी बोले कि दिल्ली चुनाव का रिजल्ट प्रमाणित करता है बिहार में एनडीए दो तिहाई बहुमत से जीतकर आएगा। अगर दिल्ली में लोगों ने विकास के नाम पर वोट किया तो बिहार में भी विकास के नाम पर वोट मिलेगा। हम प्रचंड बहुमत से चौथी बार भी जीतेंगे। राष्ट्रीय जनता दल व कांग्रेस के खाते में विकास के नाम पर कुछ भी नहीं है।

Posted By: Hemant Upadhyay