इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Law College Indore। बार काउंसिल अॉफ इंडिया (बीसीआइ) की मान्यता नहीं होने से धार स्थित लॉ कॉलेज को उच्च शिक्षा विभाग ने बंद कर दिया है। यहां के विद्यार्थियों को सोमवार तक अन्य कॉलेजों में शिफ्टिंग किया जाएगा। इसके लिए संभाग के बाकी दूसरे लॉ कॉलेजों से खाली सीटों का ब्यौरा बुलवाया है। ताकि इन छात्र-छात्राओं को खाली सीटों पर दाखिला दिया जा सके। सोमवार दोपहर तीन बजे देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने बैठक बुलाई है। यहां विद्यार्थियों के अलावा कॉलेज के प्राचार्यों को भी बुलाया है, जिससे तुरंत इन विद्यार्थियों को शिफ्ट कर परीक्षा करवाई जा सके।

धार स्थित सागर इंटरनेशन कॉलेज (एसआइसी) से 43 छात्र-छात्राओं को ट्रांसफर करने का फैसला लिया। विभाग के आदेश विवि ने भी पत्र जारी किया। परीक्षा नियंत्रक डॉ. अशेष तिवारी का कहना है कि ट्रांसफर करने के संबंध में पत्र निकाला है। कुछ समय बाद बीएएलएलबी की परीक्षा होना है। उसके पहले विद्यार्थियों के दाखिले की प्रक्रिया खत्म करना है। इसके लिए बैठक में कॉलेज के प्राचार्यों को भी बुलाया है। प्रभारी रजिस्ट्रार अनिल शर्मा ने बताया कि कॉलेज 77 विद्यार्थियों को ट्रांसफर करने का बोल रहा है। मगर विश्वविद्यालय ने पिछले सत्र में कॉलेज द्वारा शपथ पत्र के आधार पर भरवाए परीक्षा फॉर्म से विद्यार्थियों की जानकारी निकाली है, जिसमें करीब 43 छात्र-छात्राओं की जानकारी मिली है।

इसके लिए सोमवार की बैठक में इन्हीं विद्यार्थियों के मुद्दे पर निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि डीएवीवी की कमेटी ने जो रिपोर्ट भेजी है। उसके आधार पर कॉलेज बंद करने को कहा है, क्योंकि चार बार बीसीआइ और दो मर्तबा कॉलेज को मान्यता के बारे में स्थिति स्पष्ट करने पर जोर दिया था लेकिन एक बार भी किसी ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया था।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags