इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Tandav Complaint Indore। वेब सीरिज तांडव के निर्माता-निर्देशक, अमेजन वेब की कंटेंट प्रमुख, वेब सीरीज में काम करने वाले कलाकारों के खिलाफ जिला कोर्ट में बुधवार को परिवाद दायर हुआ है। इसमें मांग की गई है कि वेब सीरीज में हिंदू संस्कृति को आहत किया गया है। इससे लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। कोर्ट से मांग की गई है कि आरोपितों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करने के आदेश दिए जाएं। कोर्ट ने परिवादी के तर्क सुनने के बाद पलासिया पुलिस थाने को मामले में जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने को कहा है।

जिला कोर्ट में यह परिवाद गोविंदसिंह बैस ने एडवोकेट प्रबल भार्गव के माध्यम से दायर किया है। इसमें कहा है कि वेब सीरीज तांडव के जरिए लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत की जा रही हैं। दुर्भावनापूर्वक जानबूझकर हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया जा रहा है। समाज में वैमनस्यता फैलाने की कोशिश हो रही है। 15 जनवरी को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर जारी वेब सीरीज तांडव के पहले एपीसोड में सत्रहवें मिनट पर हिंदुओं के आराध्य भगवान शंकर को आधुनिक मजाकिया रूप में प्रतिरूपण करने का घिनौना काम किया है। इससे करोड़ों हिंदुओं की भावना आहत हुई है।

वेब सीरीज में छात्र राजनीति का केंद्र स्वामी विवेकानंद यूनिवर्सिटी को बनाया गया है। इस तरह स्वामी विवेकानंद की छबि खराब करने का प्रयास किया गया है। परिवाद में डायरेक्टर अली अब्बास जफर, प्रोड्यूसर हिमांश कृष्ण मेहरा, लेखक गौरव सोलंकी, अमेजन प्राइम के ओरिजनल प्राइम की कंटेंट हेड इंडिया अर्पणा पुरोहित व सीरीज में काम करने वाले सैफ अली खान, मो. जिशान अय्युब के खिलाफ 153 ए, 295, 505(1) 469 और आइटी एक्ट की धारा 66, 67एफ और 67 में आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग की है।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags