इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सीएए-एनआरसी के मुद्दे के बाद अब आरक्षण की राजनीति शुरू होती दिख रही है। विपक्षी दल ने केंद्र सरकार और भाजपा पर आरोप लगाया है कि केंद्र-भाजपा देश में आरक्षण खत्म करना चाहती है। पदोन्नति में आरक्षण के खिलाफ आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले और उसमें आरक्षण को संवैधानिक अधिकार नहीं मानने की कोर्ट की टिप्पणी को इसका आधार बनाया गया है। शुक्रवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव शुक्ला ने इंदौर में आरोप लगाते हुए ऐलान किया वंचित वर्गों से आरक्षण का अधिकार छीनने की केंद्र सरकार और भाजपा की कथित मंशा के खिलाफ कांग्रेस देशभर में आंदोलन खड़ा करने जा रही है।

शुक्रवार सुबह इंदौर प्रेस क्लब में शुक्ला ने कहा कि उत्तराखंड की तत्कालीन भाजपा सरकार ही आरक्षण के खिलाफ कोर्ट में पहुंची थी। उसी मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी की है कि आरक्षण संवैधानिक अधिकार नहीं है। कोर्ट ने कह दिया है कि आरक्षण सरकारों पर निर्भर है। भाजपा और केंद्र सरकार की नीयत आरक्षण पर स्पष्ट नहीं है। हम चाहते हैं कि वंचित वर्गों को आरक्षण मिलते रहना चाहिए, लेकिन भाजपा छीनना चाहती है। हालांकि प्रमोशन में आरक्षण के खिलाफ दिए गए फैसले पर शुक्ला पार्टी का रुख साफ करने से बचते दिखे। उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला है, इसलिए हम इस पर कुछ नहीं कहेंगे, लेकिन केंद्र-भाजपा की आरक्षण खत्म करने की साजिश के खिलाफ देशभर में आंदोलन किया जाएगा।

शुक्ला के साथ कांग्रेस की प्रदेश मीडिया समन्वयक शोभा ओज्ञा, शहर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल व जिला कांग्रेस अध्यक्ष सदाशिव यादव भी मौजूद थे। शुक्ला ने पंडित नेहरू पर की गई विदेश मंत्री एस. जयशंकर की टिप्पणी पर कहा कि वे मेरे मित्र हैं, लेकिन उन्हें ऐसा नहीं कहना चाहिए था। उनका तथ्यपूर्ण जवाब इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने दे दिया है। शुक्ला ने कहा कि भाजपा वाले सुबह उठने से लेकर सोने तक सिर्फ गांधी-नेहरू परिवार को ही कोसते हैं।

मुफ्तखोर का प्रचार प्रोपेगंडा

दिल्ली के चुनाव परिणाम और कांग्रेस के बेहद खराब प्रदर्शन पर शुक्ला ने कहा कि दिल्ली को संवारने का काम और तमाम बड़े विकास कार्य कांग्रेस और शीला दीक्षित सरकार ने किए। यह हमारे संगठन की कमजोरी रही कि हम इसे भुना नहीं पाए। शुक्ला ने कहा कि परिणामों से यह भी साफ होता है कि मतदाता किसी भी कीमत पर भाजपा को हराना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने वोटों का बंटवारा नहीं किया।

हालांकि शुक्ला ने दिल्ली में आप के साथ गुपचुप गठबंधन जैसी बात से इनकार किया। शुक्ला बोले हमें सहयोग करना होता तो हम खुल्लमखुला गठबंधन करते। आप की जीत पर दिल्ली के मतदाताओं को मुफ्तखोर प्रचारित करने की बात पर शुक्ला ने कहा कि सोशल मीडिया में भाजपा की एक टीम होती है जो पूरे दिन उनके लिए प्रोपेगंडा में लगी रहती है। शुक्ला ने यह भी कहा कि राम मंदिर कोर्ट के आदेश पर बन रहा है। इसमें किसी दल को श्रेय नहीं लेना चाहिए।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket