इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Cooperative Department Indore। जमीन के घोटालों से घिरी देवी अहिल्या श्रमिक कामगार गृह निर्माण सहकारी संस्था के सदस्यों की मतदाता सूची का लंबे समय बाद शुद्धिकरण किया जा रहा है। वास्तव में संस्था की सदस्यता सूची तैयार करने का काम सहकारिता विभाग का है, लेकिन पहली बार प्रशासन की निगरानी में सूची तैयार की जा रही है। इसीलिए सदस्यता सूची तैयार करने के लिए रजिस्ट्रीकरण अधिकारी किसी सहकारिता अधिकारी को बनाकर तहसीलदार सुदीप मीणा को बनाया गया है।

दरअसल, यह कवायद इसलिए की जा रही है कि जल्द ही संस्था के चुनाव कराए जाएंगे। चुनाव होने से संस्था में निर्वाचित संचालक मंडल काबिज होगा ताकि कुछ उलझे और विवादित मामलों में निर्णय लिए जा सकें। संस्था में इस समय 6300 सदस्य बताए जा रहे हैं। सदस्यता सूची जारी करने के बाद इसके लिए दावे-आपत्ति बुलाए जा रहे हैं। दावे-आपत्ति पेश करने की अंतिम तारीख 2 अगस्त तय की गई है। उल्लेखनीय है कि अंतिम बार संस्था के संचालक मंडल के चुनाव 2006 में हुए थे। यह बोर्ड 2009 तक रहा और इसके बाद भंग कर दिया गया। इस तरह 12 साल से संस्था में बोर्ड नहीं है। बोर्ड की जगह सहकारिता विभाग द्वारा नियुक्त प्रशासक ही काम चला रहे हैं।

अपर कलेक्टर अभय बेड़ेकर ने बताया कि संस्था की जांच पहले से चल रही है। इसमें जमीन संबंधी कई अनियमितताएं सामने आई हैं। विवादों को देखते हुए ही मध्यप्रदेश सहकारी निर्वाचन प्राधिकारी को भेजे गए चुनाव प्रस्ताव में राजस्व विभाग के अधिकारी को नियुक्त करने का अनुरोध किया गया था। रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के रूप में नियुक्त तहसीलदार संस्था की सूची का परीक्षण कर इसे अंतिम रूप देंगे। एक बार सदस्यों की मतदाता सूची तैयार होने के बाद सहकारिता विभाग इसके चुनाव की प्रक्रिया करेगा।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local