इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Corona Indore News। इंदौर में छह लोगों में यूके के वायरस स्ट्रेन की पुष्टि होने के बाद गुरुवार को महात्मा गांधी चिकित्सा (एमजीएम ) कालेज द्वारा संक्रमित मरीजों के अलग-अलग श्रेणी के 99 सैम्पल दिल्ली स्थित लैब में जांच के लिए भेजे गए हैं। इस तरह मेडिकल कालेज द्वारा यह जांचने का प्रयास किया जा रहा है कि इंदौर में यूके का स्ट्रेन ज्यादा लोगों में तो नहीं फैला है। यह वायरस तेजी से लोगो को संक्रमित करता है। यही वजह है कि जिला प्रशासन द्वारा इस संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए इंदौर में रात के समय कर्फ्यू लगाने पर विचार कर रहा है।

संक्रमण तेजी से फैलाता है यूके का वायरस स्ट्रेन

एमजीएम मेडिकल कालेज के डीन डा. संजय दीक्षित के मुताबिक भारत में अब तक पाए कोविड वायरस के संक्रमण के मुकाबले यूके के वायरस के स्ट्रेन की संक्रामक क्षमता अत्यधिक है। हालांकि इस यूके के स्ट्रेन से भारत में मरने वालों संख्या कम रही है। चीन का जो वायरस था उसके जीन में बदलाव के कारण म्युटेशन हुआ है। इस वजह से वायरस की संरचना में बदलाव हुआ। इस बदलाव के कारण ही वायरस का किसी व्यक्ति को संक्रमित की दर बदली है हालांकि राहत की बात यह है कि इसके कारण मौत कम हो रही है। इंदौर में 23 फरवरी को आखिरी बार संक्रमित मरीज की मौत हुई थी उसके बाद से अभी तक किसी की मौत नहीं हुई है। मालूम हो कि पिछले माह तक इंदौर में करोना वायरस का प्रकोप कम हो गया था लेकिन मार्च के आते ही कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा दिखने लगा है।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags