Corona Virus in Indore : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राहत की बात है कि एक तरफ कोरोना संक्रमण कम हो रहा है और दूसरी तरफ इस बीमारी को हराकर ठीक होने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अगस्त की शुरुआत में जिले में कोरोना के उपचाररत मरीजों की संख्या 605 थी जो अब घटकर 178 हो गई है। अगस्त के 19 दिन में कोरोना के 812 नए मरीज मिले, वहीं 1238 पूरी तरह से ठीक भी हुए हैं। रिकवरी दर 152 प्रतिशत रही है। यानी जितने संक्रमित मिल रहे हैं, उससे लगभग डेढ़ गुना ठीक हो रहे हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक यह एक अच्छा संकेत है। जरूरत सावधानी बरतने की है।

36 नए संक्रमित मिले

शुक्रवार को 523 सैंपल जांचे गए। इनमें से सिर्फ 36 संक्रमित मिले हैं। वहीं 36 उपचाररत मरीज कोरोना से पूरी तरह से ठीक भी हुए। इंदौर में अब तक 38,42,371 सैंपल जांचे जा चुके हैं। इनमें से 2,12,018 संक्रमित मिले हैं। राहत की बात यह है कि इनमें से 2,11,206 पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। कोरोना की वजह से अगस्त में सिर्फ एक मौत हुई है।

जिन्हें गंभीर बीमारी, उन्हें खतरा ज्यादा

विशेषज्ञों के मुताबिक जो लोग पुरानी गंभीर बीमारियां जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप, किडनी इत्यादि से पीड़ित हैं, उन्हें कोविड-19 का संक्रमण होने की आशंका अन्य के मुकाबले ज्यादा रहती है। ऐसे लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बीमारी की वजह से कम हो जाती है। इसके चलते वायरस इन पर आसानी से असर करता है। डाक्टरों का कहना है कि ऐसे लोग अगर तीनों टीके लगवा लें तो उनके शरीर में कोरोना से लड़ने वाली एंटीबाडी तैयार हो जाएगी। जरूरत है तो सिर्फ इस बात की कि हर वयस्क कोरोना के तीनों टीके अनिवार्य रूप से लगवा लें।

सतर्कता डोज को हल्के में ले रहे लोग

सतर्कता डोज को लोग अभी भी हल्के में ले रहे हैं, जबकि यह जरूरी है। जिला टीकाकरण नोडल अधिकारी डा. तरुण गुप्ता के अनुसार जिले में साढ़े 23 लाख लोग हैं, जो पात्र होने के बावजूद सतर्कता डोज नहीं लगवा रहे हैं।

अगस्त की स्थिति -

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close