इंदौर । आहार एवं पोषण विशेषज्ञ कविता सबरवाल के मुताबिक किसी भी रोग की बड़ी वजह होती है कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता, गंदगी और पेट की खराबी। इन पर ध्यान दिया जाए तो कई रोगों से बचा जा सकता है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हम स्वच्छता पर तो ध्यान दे रहे हैं, लेकिन इसके साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने पर भी ध्यान देना होगा।

माना कि शहर में कर्फ्यू लग गया है, पर हमारी रसोई और बगीचे में ऐसी कई सामग्री व वनस्पतियां होती हैं, जिनके इस्तेमाल से न केवल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाया जा सकता है बल्कि हानिकारक बैक्टीरिया को शरीर से बाहर भी निकाला जा सकता है।

कुछ काढ़े और कुछ खाद्य पदार्थों से घर में ही हम बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त कर सकते हैं। आधा चम्मच हल्दी, एक इंच अदरक का टुकड़ा, नीबू का एक चौथाई टुकड़ा, दो-दो लौंग और काली मिर्च तथा चुटकीभर दालचीनी पावडर पानी में डालकर उबाल लें और इसे छानकर चाय की तरह दिन में एक बार पीएं। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है और यह एंटीऑक्सीडेंट का भी काम करता है।

ये उपाय अपनाएं

-आधा चुकंदर, एक गाजर,चार-पांच कढ़ी पत्ते और एक चम्मच सौंफ लेकर इसे पीस लें। इसमें नीबू का रस और काला नमक मिलाकर पी लें। इससे हीमोग्लोबिन बढ़ेगा, विटामिन ए मिलेगा, एंटीऑक्सीडेंट होगा और पाचन तंत्र बेहतर होगा।

-एक इंच अदरक का टुकड़ा, एक तेजपत्ता, एक चक्रफूल, चार-पांच तुलसी के पत्ते, दो काली मिर्च और एक लौंग को पानी में उबालकर छान लें और उसे चाय की तरह पीएं। तुलसी में एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। चक्रफूल एंटी फंगल प्रॉपर्टी से भरा होता है और तेजपत्ता पाचन को दुरुस्त करता है।

- खाने में कढ़ी पत्ता, पुदीना, तेजपत्ता, सौंफ, सनफ्लावर सीड्स, हल्दी, अदरक शामिल करें। सनफ्लावर सीड्स में विटामिन बी 6, फास्फोरस और मैग्नेशियम होता है।

-छाछ पीएं क्योंकि यह प्रोबायोटिक होता है जो खराब बैक्टीरिया को शरीर से बाहर निकाल देता है।

-दिन की शुरुआत बादाम से करें। इसमें विटामिन ए और हेल्दी फेट्स होते हैं।

-अंकुरित अनाज के साथ सलाद, मूंगफली के दाने, चने मिलाकर खाएं। इससे विटामिन, मिनरल और प्रोटीन मिलेगा तथा रक्त संचार भी अच्छा रहेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket