Coronavirus in Indore : अश्विन बक्शी, इंदौर (नईदुनिया)। कोरोना संक्रमित मरीजों का उपचार करने वाले रेड कैटेगरी के चार अस्पतालों में बिस्तरों के साथ ही आइसीयू भी भरने लगे हैं। बुधवार तक एमआरटीबी अस्पताल, एमटीएच अस्पताल, इंडेक्स व अरबिंदो मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध आइसीयू बिस्तरों में से 74 ही खाली रहे। कुल 160 आइसीयू बिस्तरों में से 86 पर मरीज हैं। इसके अलावा ग्रीन कैटेगरी के निजी अस्पतालों में भी कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व आइसीयू भरने लगे हैं। प्रशासन ने किसी भी स्थिति से बचने के लिए व्यवस्था कर रखी है। पूरे शहर के अस्पतालों में करीब 450 आइसीयू बिस्तर, 299 ऑक्सीजन सुविधा वाले बिस्तर और करीब 3500 सामान्य बिस्तर उपलब्ध हैं। इसके अलावा सात हजार सामान्य बिस्तर रिजर्व रखे गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अभी इन अस्पतालों में 234 आइसीयूू बिस्तर हैं जिनमें से सिर्फ 107 पर ही मरीज भर्ती हैं। अन्य आइसीयू बिस्तरों की व्यवस्था रिजर्व में रखी गई है।

बुधवार तक की स्थिति में विभिन्न अस्पतालों में 2016 मरीज रेड कैटेगरी के चार अस्पतालों में भर्ती हैं। इनमें ऐसे मरीज भी शामिल हैं जिन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही है। इन्हें आइसीयू में शिफ्ट करना जरूरी है। ऐसे मरीजों को ठीक होने पर आइसीयू से वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है। उक्त चार अस्पतालों में कुल सामान्य बिस्तर 1920 हैं। इनमें से 747 बिस्तर खाली हैं। इसके विपरीत प्राइवेट अस्पतालों में आइसीयू बिस्तरों की उपलब्धता अचानक कम होती जा रही है। शहर के विभिन्न अस्पतालों में रिजर्व में रखे सामान्य बिस्तरों की संख्या करीब 4100 है। ऐसे में रेड कैटेगरी के चार अस्पतालों के भरने पर मरीजों को अन्य अस्पतालों में शिफ्ट किया जा सकेगा।

डिस्चार्ज मरीजों के कारण खाली मिल रहे बिस्तर

रोजाना डिस्चार्ज होने वाले मरीजों के कारण अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्धता बनी हुई है। रोजाना 50 से अधिक मरीज अस्पतालों से डिस्चार्ज हो रहे हैं। इससे कि बिस्तरों की कम आवश्यकता ही लग रही है। यही क्रम रहा तो चार अस्पतालों में ही एक सप्ताह से अधिक समय बिस्तर भरने में लगेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local