इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Coronavirus in Indore। इंदौर शहर में अभी तो कोरोना के पाजिटिव केस बढ़े हैं, लेकिन आने वाले 10-15 दिन में इन्हीं में से कुछ लोगों की हालत बिगड़ भी सकती है। यही लोग अस्पतालों में पहुंचेंगे। यदि हमने पहले से तैयारी नहीं की तो मुश्किल होगी। ऐसे में सरकारी और निजी अस्पतालों को एक बार फिर सावधान हो जाना चाहिए। प्रशासन ने निजी अस्पताल संचालकों को सचेत किया है कि उन्हें पहले की तरह कोरोना मरीजों के लिए सामान्य बिस्तर और आइसीयू बेड बढ़ाने होंगे। इसी मुद्दे पर बुधवार को प्रीतमलाल दुआ सभागृह में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने निजी अस्पताल संचालकों के साथ बैठक की।

बैठक में संभागायुक्त डा. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, अपर कलेक्टर हिमांशु चंद्र, सीएमएचओ डा. पूर्णिमा गाडरिया, डा. हेमंत जैन सहित निजी अस्पतालों के प्रतिनिधि मौजूद थे। बैठक में इस बात पर चिंता जाहिर की गई कि इंदौर से महाराष्ट्र का काफी जुड़ाव है। महाराष्ट्र के अमरावती, पूना, नागपुर और नासिक में कोरोना के केस बढ़ेंगे तो इसका असर इंदौर पर भी पड़ेगा। महाराष्ट्र के इन शहरों में कोरोना बढ़ा तो इंदौर आने में समय नहीं लगेगा।

इंदौर में 133 नए कोरोना संक्रमित मिले, दो की मौत

इंदौर शहर में बुधवार को 133 नए कोरोना संक्रमित मिले और दो की मौत हो गई। जारी कोरोना बुलेटिन के मुताबिक 1139 सैंपलों की जांच की गई। अस्पतालों से 68 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। अब कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 933 पर पहुंच गया है। अब तक कुल आठ लाख 26 हजार 974 सैंपलों की जांच की गई है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags