Coronavirus in Indore : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना वायरस भीड़ के कारण ज्यादा फैलता है, लेकिन इस बात को जनप्रतिनिधि ही समझने को तैयार नहीं हैं। जरूरी सामग्री के वितरण के दौरान भी सुरक्षा के इंतजामों में लापरवाही बरती जा रही है। भीड़ के नियंत्रण का भी प्रबंधन नहीं हो रहा है। ऐसा ही वाक्या आजाद नगर में पूर्व पार्षद व कांग्रेस नेता शेख अलीम के घर हुआ। कर्फ्यू के दौरान भीड़ लगाने वाले कांग्रेस नेता अलीम पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया। अलीम ने घर के बाहर खाद्य सामग्री बांटी थी। उन्होंने सामान बांटने के लिए महिलाओं,बच्चों को एकत्र कर लिया। यहां मौजूद लोगों के पास मास्क व सैनिटाइजर भी नहीं थे।

आजाद नगर थाना पुलिस के मुताबिक, कांग्रेस नेता शेख अलीम ने गुरुवार सुबह लोगों को खाद्य सामग्री बांटने का एलान किया था। जैसे ही खबर फैली लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। आजाद नगर, मूसाखेड़ी, मयूर नगर से महिलाएं, बच्चे झोले लेकर सामान लेने पहुंच गए। अलीम ने सभी को कतार से खड़ा करवाया और सामान बांटने लगे। मामले का वीडियो जारी होने के बाद दोपहर को पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। टीआई संजय शर्मा के मुताबिक, आरोपित पर 188 यानी धारा 144 के उल्लंघन और लोगों की जान जोखिम में डालने के आरोप में धारा 269 के तहत केस दर्ज किया गया है।

सुरक्षा के पूरे इंतजाम थे

पूर्व पार्षद शेख अलीम का कहना है कि मेरे वार्ड में कई गरीब लोग रहते हैं। उनके पास अनाज नहीं है। मैंने सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए थे। वितरण सामग्री स्थल को सैनिटाइज किया था। लोगों को दूर-दूर खड़ा किया जा रहा था, लेकिन लोगों की भीड़ आ रही थी। राजनीतिक द्वेष के चलते किसी ने गलत तरीके से वीडियो बनाकर मुझे बदनाम करने की कोशिश की है।

Posted By: Nai Dunia News Network