अश्विन बक्शी इंदौर। (नईदुनिया) Coronavirus in Indore :शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने का सिलसिला 24 मार्च से लगातार जारी है। सोमवार तक 151 पॉजिटिव मरीज मिल चुके हैं जिनमें से 13 मरीजों की मौत हुई है। संक्रमित मरीजों में युवाओं की संख्या सबसे ज्यादा है, जबकि मरने वाले 13 लोगों में 50 साल या उससे अधिक उम्र के 11 मरीज शामिल हैं। इनमें से अधिकतर को पहले से कुछ बीमारी रही है।

कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के घर के आसपास कंटेनमेंट एरिया घोषित किया जाता है। शहर में अब तक 45 क्षेत्र कंटेनमेंट घोषित किए गए हैं। इन क्षेत्रों से 151 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। सबसे ज्यादा मरीज खजराना, टाटपट्टी बाखल, रानीपुरा के हैं। इन पर प्रशासन विशेष निगरानी रखते हुए काम करवा रहा है।

अब तक मिले पॉजिटिव मरीजों में 21 से 30 साल तक के 25 युवा, 40 साल तक के 32 और 50 साल से ऊपर के लगभग 35 लोग हैं। ठीक होने वाले लोगों में भी 50 साल से अधिक उम्र के अधिकतर लोग शामिल हैं।

50 साल से अधिक उम्र में ज्यादा मौत

कोरोना से अब तक मरने वाले लोगों में से 10 मरीज 50 साल से अधिक उम्र के हैं। मरने वालों की उम्र 65, 41, 50, 65, 54, 42, 80, 53, 50, 54, 56, 50 और 60 साल थी।

मृतकों में अस्थमा और डायबिटीज के भी मरीज

मेडिकल कॉलेज से जारी रिपोर्ट के अनुसार कोरोना से मरने वालों में कई मरीजों को हाइपरटेंशन, अस्थमा, डायबिटीज जैसी बीमारियां पहले से थीं। एक व्यक्ति को दिल से संबंधित बीमारी भी थी।

बीमार लोगों को बरतनी होगी और अधिक सावधानी

जो लोग पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त हैं उन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अधिक सावधानी बरतनी होगी। डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के अनुसार भी 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण का अधिक खतरा बताया गया है। इसलिए उन्हें बिलकुल भी बाहर नहीं निकलना चाहिए।

गलतफहमी में न रहें युवा

सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया के अनुसार हर जगह की अलग-अलग परिस्थिति होती है। विदेश में अधिक उम्र के लोग इससे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं। इसीलिए डब्ल्यूएचओ ने भी 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को सतर्क रहने के लिए एडवाइजरी जारी की है। इंदौर में युवा मरीजों के बड़ी संख्या में सामने आने के पीछे एक कारण यह भी हो सकता है कि वे ज्यादा भीड़ वाले इलाकों में पहुंच रहे हों और ज्यादा लोगों के संपर्क में आ रहे हों। युवाओं को भी इसी तरह की गलतफहमी नहीं रहना चाहिए कि ज्यादा स्ट्रांग या रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होने से यह संक्रमण नहीं होगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना