मालवा-निमाड़(नईदुनिया टीम)।Coronavirus in Malwa Nimar : इंदौर और उज्जैन के बाद अब अंचल से लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। खरगोन, धार, खंडवा, बड़वानी, देवास के बाद शाजापुर जिले में भी संक्रमित मरीज मिला है। यहां प्रशासन द्वारा सावधानी और सतर्कता के साथ लॉकडाउन में सख्ती बरती जा रही है। खरगोन जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या 14 हो गई है, अब तक दो की मौत चुकी है। कसरावद की दो महिलाओं में कोरोना की पुष्टि हुई है।

इसके पहले सहकार नगर में एक ही परिवार के नौ सदस्य पॉजिटिव पाए गए थे। इनमें से एक महिला की मौत हो गई थी। इस परिवार के दो सदस्य दिल्ली मरकज से लौटे थे। धरगांव में भी 65 वर्षीय एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो चुकी है। बड़गांव के 42 वर्षीय और आसनगांव के 34 वर्षीय व्यक्ति में भी संक्रमण पाया गया था।

इनका इंदौर में इलाज चल रहा है। बड़वानी में आइसोलेशन वार्ड की नर्स संक्रमित बड़वानी जिला मुख्यालय पर आइसोलेशन वार्ड में तैनात नर्स संक्रमित पाई गई है। सेंधवा का 22 वर्षीय युवा, जो सऊदी अरब से 12 मार्च को आए वृद्ध का पोता भी संक्रमित है। जिला मुख्यालय पर पहला संक्रमित पाए जाने से पांच कि मी क्षेत्र को बफर जोन घोषित कि या गया है।

वहीं तीन किमी क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर आवाजाही प्रतिबंधित की गई है। पूरे शहर की स्क्रीनिंग करने के आदेश जारी हुए हैं। वहीं सेंधवा के सऊदी से लौटे वृद्ध की 30 मार्च को इंदौर में मौत के बाद खलवाड़ी क्षेत्र निवासी तीन स्वजन संक्रमित पाए गए थे, अब उनका पोता संक्रमित पाया गया है। धार में पहला मरीज मिलने से हड़कंप धार शहर में जिले के पहला कोरोना पॉजिटिव मिलने से हड़कंप में मच गया। बुधवार रात रिपोर्ट आने के बाद बुजुर्ग को तुरंत इंदौर रैफर किया गया।

वहीं रात में ही उसके परिवार के तीनों सदस्यों को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भेजा गया। रात में ही क्षेत्र को सील किया गया। खंडवा में पांच मरीज, कर्फ्यू लगाया खंडवा शहर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर पांच हो गई है।

इनमें एक खानशाहवली क्षेत्र का है और चार कर्नाटक के हैं जो जमात से जुड़े हैं। जिला प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया है। देवास में पहली मौत, बेटा जमात में शामिल देवास में बुधवार देर रात तीन मरीजों के पॉजिटिव मिलने के बाद हड़कंप मच गया। इनमें से एक की गुरुवार सुबह अमलतास अस्पताल में मौत हो गई।

पॉजिटिव मिले मरीजों के क्षेत्रों को सील कर दिया गया है। साथ ही कर्फ्यू में सख्ती शुरू की गई है। पीठा रोड निवासी महिला, नाहर दरवाजा क्षेत्र और हाटपीपल्या निवासी व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। हाटपीपल्या के व्यक्ति की गुरुवार सुबह मौत हो गई। उसके संपर्क में आए 70 से अधिक लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया है। उसके सुसराल वाले गांव कन्नौद तहसील के पानीगांव को भी सील कर दिया गया है। व

ह अपने ससुर के घर गमी में शामिल होने गया था। मृतक का बेटा जमात में शामिल है, जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है। शाजापुर जिले में 30 वर्षीय व्यक्ति पॉजिटिव शाजापुर जिले में कोरोना का पहला पॉजीटिव मरीज सामने आ चुका है। जिले के ग्राम शुजालपुर क्षेत्र के ग्राम जामनेर निवासी एक 30 वर्षीय व्यक्ति संक्रमित मिला है। जानकारी अनुसार वह इंदौर के एक मदरसे में पढ़ाता था। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संबंधित के परिजनों की भी जांच की।

क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। रतलाम में 54 घंटों का टोटल लॉकडाउन रतलाम जिले के समीपवर्ती इलाकों में संक्रमितों के सामने आने से लॉकडाउन को लेकर सख्ती की जा रही है।

कलेक्टर रुचिका चौहान ने 8 अप्रैल रात 12 बजे से 11 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक 54 घंटों का टोटल लॉकडाउन घोषित किया है। इससे पहले भी दो बार टोटल लॉकडाउन किया गया था। अब तक जिले में एक भी कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिला है। आदेश के अनुसार 30 घंटे तक सभी अपने प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। जिले की सीमाएं सील की गई हैं।

अत्यावश्यक सेवा वाले विभाग, चिन्हित मेडिकल दुकान, हॉस्पिटल, पेट्रोल पंप एवं सभी बैंक के एटीएम से कैश प्रतिपूर्ति की सेवा के अलावा शेष समस्त शासकीय, अशासकीय कार्यालय व व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। झाबुआ में इंदौर से आए 10 लोग क्वारंटाइन झाबुआ जिला गुरुवार को बंद रहा। बुधवार रात रानापुर क्षेत्र के ग्राम खडकुई में 10 ग्रामीण इंदौर से घर पहुंचे।

प्रशासन उन्हें रानापुर लेकर आया और कस्तूरबा आश्रम में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर पर लाकर परीक्षण किया। इनमें से तीन लोगों के सैम्पल इंदौर भेजे गए हैं। बीएमओ डॉ. जीएस चौहान ने बताया कि सभी को निगरानी में रखा है। इसके अलावा गुजरात से लौटे भूरीमाटी के व्यक्ति का भी सैम्पल इंदौर भेजा है। बुरहानपुर में ड्रोन कैमरे से निगरानी बुरहानपुर जिले में बंद बाजारों व गली-मोहल्लों में पुलिस द्वारा ड्रोन कै मरों से निगरानी की जा रही है।

जिले में महाराष्ट्र, गुजरात व राजस्थान से लोगों के आने का सिलसिला जारी है। अभी तक जिले में एक भी मरीज नहीं मिला है। पेंशन, वेतन और जनधन खातों में आ रहे रुपये निकालने के लिए बैंकों में लोगों का तांता लग रहा है। लोग शारीरिक दूरी बनाकर कतार में खड़े हो रहे हैं। नीमच जिले की राजस्थान से लगी सीमाएं सील नीमच जिले की राजस्थान सीमाओं पर सारे रास्ते बंद कर दिए गए हैं।

संबंधित पंचायतों ने मार्गों को जेसीबी से खोदकर पत्थरों की कच्ची दीवार खड़ी कर दी है। जिले की तीन सीमाएं सीधे राजस्थान के अलग-अलग जिलों से मिलती हैं। इसके अतिरिक्त कई गांव सीधे राजस्थान के अन्य गांव से जुड़े हुए हैं। यहां जिला प्रशासन ने सीमाओं पर चेकपोस्ट लगा रखी है और मेडिकल स्टाफ द्वारा स्क्रीनिंग कराई जा रही है।

मंदसौर के मुल्तानपुरा में हुई 50 लोगों की जांच मंदसौर शहर से सटे ग्राम मुल्तानपुरा में 50 लोगों की जांच की गई। उल्लेखनीय है कि उज्जैन के नागदा में कोरोना पॉजिटिव मिला युवक इंदौर में चंदननगर में जिस शादी में शामिल हुआ था, वहां पर बरात मुल्तानपुरा से गई थी।

अब जिले में सख्ती बढ़ाते हुए सभी किराना दुकानें भी बंद करा दी गई हैं। अभी जिले से भेजे गए 21 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है। आलीराजपुर जिले में अब तक 22 संदिग्ध मरीज सामने आए हैं। इनमें से 11 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। शेष 11 की जांच रिपोर्ट का स्वास्थ्य विभाग को इंतजार है। इन मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। जिले में अब तक एक भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज नहीं मिला है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना