इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Court Indore News। जिला कोर्ट के रिकार्ड रूम में गुरुवार शाम आग लग गई। आग इतनी तेजी से फैली कि दमकलें पहुंचती तब तक बहुत-सा रिकार्ड जल चुका था। आग लगने के करीब छह घंटे यानी रात 12 बजे तक 50 टैंकर पानी बहाने के बाद भी रिकार्ड रूम सुलग रहा था। जिला कोर्ट की इमारत के तलघर में बने रिकार्ड रूम में इसके पहले भी आग लगने की इक्का-दुक्का घटनाएं हो चुकी हैं । पहले यह कभी इतनी विकराल नहीं रही। गुरुवार को लगी आग ने रिकार्ड रूम के एक बड़े हिस्से को अपनी चपेट में ले लिया।

दशकों से सहेजा जा रहा रिकार्ड आग में स्वाहा हो गया। जिला कोर्ट की इमारत के आसपास वकीलों द्वारा बनाए गए शेड की वजह से दमकलों को मौके पर पहुंचने में दिक्कत हुई। वकीलों के शेड और तलघर की खिडकियां तोड़कर किसी तरह पानी के पाइप पहुंचाए गए। देर शाम तक आग धधक रही थी। गुरुवार शाम करीब 6.30 बजे कैरम रूम में खेल में व्यस्त वकीलों को कुछ जलने की बदबू आई। उन्होंने तुरंत आसपास पड़ताल की तो पता चला कि बदबू बेसमेंट में बने रिकार्ड रूम से आ रही है। वकील वहां पहुंचे। उन्होंने देखा कि रिकार्ड धूं-धूं कर जल रहा है। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना जिला जज और फायर ब्रिगेड को दी। मौके पर मौजूद एडवोकेट संजय मेहरा ने बताया कि फायर ब्रिगेड के पहुंचने के पहले ही बहुत-सा रिकार्ड जल चुका था। तलघर की खिडकियां तोड;कर पाइप के जरिए पानी तलघर में फेंका गया। इसके बाद भी आग रह-रहकर धधकती रही। जिला कोर्ट की इमारत के आसपास वकीलों द्वारा बनाए गए शेड की वजह से भी आग पर काबू पाने में दिक्कत आई। रात को 40 टैंकर पानी खर्च होने के बाद पानी खत्म हो गया। इससे थोड़ी देर के लिए आग बुझाने की कार्रवाई रोकना पड़ी। एसपी अग्निशमन आरएस निगवाल ने नगर निगम केअधिकारियों को फोन लगाया। पानी के टैंकर उपलब्ध करवाने के लिए कहा। इस दौरान करीब 20 मिनट तक पानी मिलने के इंतजार में आग बुझाने का काम रुका रहा। आधी रात तक आग पूरी तरह नहीं बुझी तो जेसीबी बुलाकार दीवार तोड़ी गई ताकि आग बुझाई जा सके।

40-50 साल का रिकार्ड था रूम में

जिला कोर्ट के तलघर में यह रिकार्ड रूम 1952 से चल रहा है। इसमें 40-50 साल का रिकार्ड सहेजा हुआ था। कई सिविल मामलों में तो अब भी हाई कोर्ट में अपीलें लंबित हैं। वकीलों के मुताबिक जिन मामलों में रिकार्ड जल गया है और अपीलें लंबित हैं। ऐसे मामलों में क्या होगा इसे लेकर संशय है। आग लगने के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags