Crime News Indore: इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। पोर्टल प्रिंट डॉट एक्सवायजेड के जरिए फर्जी दस्तावेज बनाने वाला गिरोह कलेक्टर कार्यालय में सक्र‍िय दलालों के संपर्क में था। दस्तावेजों के लिए आवेदन करने वालों से संपर्क कर दलाल आरोपित प्रदीप और अजय से मिलवा देते थे। पुलिस ने देवीलाल नामक एक दलाल को हिरासत में ले लिया है। गौरव व उसके साथियों की तलाश है।

बाणगंगा थाना टीआइ राजेंद्र सोनी के मुताबिक आरोपित अजय उर्फ छोटू रामदास हीरे(कानपुरा) और प्रदीप लक्ष्मण(गोगिया) शांतिनगर में प्रियांसी आन लाइन सेंटर पर फर्जी शासकीय दस्तावेज बनाते थे। स्वास्थ्य खराब होने के कारण प्रदीप को तो जेल भेज दिया लेकिन अजय को रविवार दोपहर कोर्ट में पेश कर मंगलवार तक रिमांड पर ले लिया। अजय ने पूछताछ में बताया कि करीब 100 सेंटर पर फर्जी कार्ड बनाने का काम चल रहा है।

कलेक्टर कार्यालय में सक्रिय दलाल भी उनसे जुड़ चुके थे। पुलिस ने रविवार को मूसाखेड़ी के देवीलाल को हिरासत में लिया। वह कलेक्टर कार्यालय स्थित समाधान केंद्र पर काम करने वाले कर्मचारियों के संपर्क में था। उन लोगों को ढूंढता जो समाधान केंद्र पर जाती प्रमाण पत्र,मूल निवासी प्रमाण पत्र,आय प्रमाण पत्र बनवाने आते थे। इसके लिए केंद्र पर बैठे कर्मचारी दूसरे दस्तावेज मांगते थे।

देवीलाल ग्राहकों का फॉर्म सबमिट कर उन्हें अजय व प्रदीप के ऑन लाइन सेंटर से फर्जी दस्तावेज बनवा कर दे देता था। टीआइ के मुताबिक समाधान केंद्र से भी संपर्क किया गया है। जो दस्तावेज मिलें उनका सत्यापन करवाया जा रहा है। आरोपित ने डेटा डिलिट कर दिया था। आरोपितों से जब्त हार्ड डिस्क से डेटा रिकवर करवाया जा रहा है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local