इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दो दिन राशन दुकानें खोलने के प्रशासन के फार्मूले के आधार पर सोमवार को फिर बाजार खुले तो पहले की तरह भीड़ नजर आई। प्रशासन की सख्ती से तंग आ चुके सियागंज के कई कारोबारियों ने अपनी दुकानें ही नहीं खोलीं। वहीं शहर के अन्य हिस्सों की थोक और खेरची दुकानों पर सुबह से जमकर भीड़ उमड़ी। कई बाजारों और दुकानों पर शाम तक ग्राहकों की भीड़ लगी रही। राशन दुकानों के साथ नमकीन, कनफेक्शनरी और तमाम तरह की दुकानें भी खुलीं। दिनभर सड़कों पर गाड़ियों की भी रेलमपेल दिखी। सियागंज में आने वाले ग्राहक भी प्रशासन की व्यवस्था से हैरान-परेशान होते रहे। बाजार के दोनों ओर बैरिकेडिंग कर वाहनों के प्रवेश का रास्ता रोक दिया गया था। शास्त्री ब्रिज के पास काफी गाड़ियां खड़ी थीं। लोग वाहन छोड़कर पैदल बाजार में गए, लेकिन सामान लेकर बाहर आते समय भारी परेशानी उठानी पड़ी।

बाजार के बाहर बैरिकेड्स तक सामान छोड़ने के लिए ठेलेवालों और मजदूरों ने 100 से 200 रुपये तक वसूले। गाड़ियों की परेशानी के कारण कई ग्राहक मारोठिया और मल्हारगंज की दुकानों की ओर रवाना हो गए। मारोठिया में दिनभर भारी भीड़ रही। मल्हारगंज में भी दोपहर तक थोक दुकानों के बाहर ग्राहकों का मजमा लगा था। बियाबानी, जवाहर मार्ग, मालवा मिल की दुकानों के साथ अलग-अलग सुपर स्टोर्स पर भी दिनभर ग्राहकों की भीड़ रही।

इसे आने वाले ईद के त्योहार की ग्राहकी का असर भी माना जा रहा है। सड़कों पर भी पुलिस की रोक-टोक नहीं थी। दुकानदारों के अनुसार, सप्ताह में दो दिन दुकानें खोलने का फार्मूला लगातार भीड़ बढ़ाता दिख रहा है। इसके फार्मूले के पहले हर सुबह कुछ घंटों के लिए दुकान खोलने पर भीड़ कम लग रही थी। प्रशासन को व्यवस्था पर फिर से विचार करना चाहिए।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags