Dattatreya Jayanti 2022: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर के दत्त मंदिरों में बुधवार को भगवान दत्तात्रेय का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। साथ ही कई धार्मिक अनुष्ठान भी होंगे। मंदिरों में फूल बंगला सजाया जाएगा। वहीं, भक्तों द्वारा अपने आराध्य की पालकी यात्रा भी निकाली जाएगी। पं. विजय अडीचवाल ने बताया कि मार्गशीर्ष माह की पूर्णिमा तिथि बुधवार सुबह 7.56 बजे आरंभ होगी, जो गुरुवार सुबह 9.06 बजे तक रहेगी। ऐसे में बुधवार को भगवान दत्तात्रेय जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

कृष्णपुरा पुल के समीप स्थित प्राचीन दत्त मंदिर में सुबह से धार्मिक अनुष्ठान शुरू होंगे। शाम को पालना दर्शन और जन्मआरती होगी। राजेंद्र नगर राम मंदिर में सुबह 7 बजे भगवान दत्तात्रेय की पादुका और गुरुचरित्र ग्रंथ की पालकी यात्रा निकाली जाएगी। तरुण मंच के संयोजक प्रशांत बड़वे ने बताया कि पालकी यात्रा में बच्चे देवी-देवताओं की वेशभूषा में शामिल होंगे। यात्रा में अमृतफले महाराज, श्रीराम कोकजे, प्रवीण नाथ पानसे, सुनील शास्त्री आदि संत शामिल होंगे। शाम को कीर्तन, भंडारा और महाआरती भी होगी।

दत्त भगवान के भजन होंगे - साउथ तुकोगंज स्थित नाथ मंदिर में भी भगवान दत्तात्रेय का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। मंदिर सचिव संजय नामजोशी ने बताया कि शाम को जन्म आरती के बाद दत्त भगवान के भजनों की प्रस्तुति दी जाएगी। 8 दिसंबर की शाम 7 बजे भी भजन होंगे और महाप्रसादी का वितरण होगा।

घरों में जलाएं 11 दीप - पलसीकर कालोनी स्थित श्री दत्त माऊली सद्गुरु अण्णा महाराज संस्थान में दोपहर 12 बजे जन्म आरती होगी। इसके बाद भगवान दत्त की पादुकाओं को पालकी यात्रा निकाली जाएगी। संस्थान के शरद जपे ने बताया कि दोपहर में सद्गुरु अण्णा महाराज और मंदिर परिसर में स्थापित भगवान दत्तात्रेय की दिव्य मूर्ति के दर्शन भी भक्त कर सकेंगे। इसके अलावा गुरु दीक्षा भी दी जाएगी। जन्म के समय पालन गीत, भजन व आतिशबाजी होगी। इसके अलावा अण्णा महाराज की पाद पूजन भी होगी। अण्णा महाराज ने भक्तों से आग्रह किया है कि दत्त जयंती पर सभी अपने घरों में 11 दीप लगाएं।

24 शंखों का नाद होगा - सूर्योदय आश्रम में भी आयोजन होंगे। श्री सद्गुरु धार्मिक एवं परमार्थिक ट्रस्ट की अध्यक्ष डा. आयुषी उदय सिंह देशमुख ने बताया कि पालकी यात्रा में 24 शंखों का नाद होगा। पालकी यात्रा में भजन मंडली व छत्रपति शिवाजी की झांकी भी शामिल होगी। यात्रा के समापन पर पाद पूजन और प्रसाद वितरण भी होगा।

केसर से होगा अभिषेक - वैशाली नगर स्थित श्री दत्त मंदिर में दोपहर 12 बजे भगवान दत्त का केसर से अभिषेक होगा। दोपहर में यहां फूल बंगला भी सजाया जाएगा। शाम 6.15 बजे जन्मोत्सव मनेगा और महाआरती भी होगी। समिति के सौरभ महाशब्दे ने बताया कि शाम को वडोदरा के कलाकार रवींद्र सोनवड़े का शहनाई वादन होगा। रात 8 बजे से दत्त नाम स्मरण, दत्तबावनी स्तोत्र आदि का सामूहिक पाठ होगा।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close