DAVV Indore : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बीए, बीकाम और बीएससी सहित अन्य स्नातक पाठ्यक्रम की पूरक परीक्षा होनी है। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने यूजी सेकंड और फाइनल ईयर की पूरक परीक्षा अक्टूबर में करवाना तय किया है। पहले फाइनल की परीक्षा होगी, फिर दस दिन बाद सेकंड ईयर के विद्यार्थियों की परीक्षा शुरू की जाएगी। अधिकारियों के मुताबिक, 15 अक्टूबर से पेपर रखे गए हैं। परीक्षा में आवेदन करने के लिए 30 सितंबर तक का समय विद्यार्थियों को दिया है।

मार्च-मई के बीच विश्वविद्यालय ने यूजी सेकंड और फाइनल ईयर की परीक्षा करवाई। इनके रिजल्ट जुलाई में जारी किए गए। सेकंड ईयर का 60-72 और फाइनल ईयर का 70-73 प्रतिशत रिजल्ट रहा है। सैकड़ों विद्यार्थी एक विषय में फेल हुए हैं। इनकी पूरक परीक्षाएं विश्वविद्यालय ने अक्टूबर के दूसरे सप्ताह से शुरू कराने की योजना बनाई है। इन पाठ्यक्रमों की परीक्षा के लिए आवेदन मंगवाए हैं। परीक्षा नियंत्रक डा. अशेष तिवारी का कहना है कि पूरक परीक्षा का अगले कुछ दिनों में टाइम टेबल जारी किया जाएगा। तीन सत्र में परीक्षा होगी।

एमवाक सहित कई डिप्लोमा की सिर्फ बीस फीसद सीटें भरी

इंदौर। कामन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) की वजह से नान सीईटी कोर्स में प्रवेश को लेकर विद्यार्थियों ने अधिक रुचि नहीं दिखाई है। दो महीने काउंसलिंग चलने के बावजूद अभी तक कई पाठ्यक्रम में सिर्फ बीस फीसद सीटों पर प्रवेश हुआ है, जिसमें बीवाक, एमवाक, एमए, एमएससी सहित अन्य डिप्लोमा कोर्स शामिल हैं, जबकि एक दर्जन से ज्यादा कोर्स में विभागों ने पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर विद्यार्थियों को सीटें आवंटित की जा रही है। अधिकारियों के मुताबिक अक्टूबर तक प्रवेश प्रक्रिया चलेगी।

एमकाम भी सीटें खाली - विश्वविद्यालय के 27 विभागों से संचालित होने वाले 72 यूजी-पीजी, डिप्लोमा, सर्टीफिकेट कोर्स में विद्यार्थियों को नान सीईटी के माध्यम से प्रवेश दिया जाना है। जुलाई से आवेदन बुलवाए हैं। पहली बार सबसे कम आवेदन नान सीईटी कोर्स में प्राप्त हुए हैं।। 3100 सीटों के लिए महज चार हजार विद्यार्थियों ने पंजीयन किया था। तीन दर्जन कोर्स की सीटों की तुलना में तीस से चालीस फीसद आवेदन आए थे। वैसे एमएससी इन फिजिक्स, केमेस्ट्री, इंस्ट्रूमेंटेशन, गणित की सीटें भर गई है। जबकि दीनदयाल उपाध्याय केंद्र से संचालित बीवाक-एमवाक कोर्स में विद्यार्थियों की कमी है। बीवाक इन न्यूट्रीशियन, फैशन डिजाइनिंग में विद्यार्थियों ने रुचि दिखाई है, लेकिन लैंडस्केप डिजाइन, खादी व हैंडलूम में 8 से 10 सीटें भरी है। एमवाक में पांच एडमिशन हुए हैं। ऐसे ही आठ से अधिक डिप्लोमा कोर्स की स्थिति है। एमकाम में भी सीटें फुल नहीं हुई है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close