DAVV Indore : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के विभागों से संचालित कई कोर्स की सीटें खाली हैं। अब इन्हें भरने को लेकर विश्वविद्यालय ने आन द स्पाट यानी पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर विद्यार्थियों को प्रवेश देने पर विचार किया है। एमए स्पोर्ट्स सायकोलाजी कोर्स में यह प्रक्रिया अपनाई जा रही है। विभाग ने छात्र-छात्राओं को दस्तावेज लेकर विभागों में बुलाया है। उधर, आइएमएस ने एमबीए एक्जीक्यूटिव और एमबीए हास्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन पाठ्यक्रम में प्रवेश की दूसरी सूची निकाली है। अब आवेदकों को सप्ताहभर में शैक्षणिक योग्यता व अन्य दस्तावेज जमा करना है।

सीयूईटी की काउंसलिंग की वजह से विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया से जुड़ी व्यवस्था गड़बड़ा गई है। खासकर नान सीईटी वाले कोर्स में प्रवेश कम हुए हैं। 74 पाठ्यक्रम की 3100 सीटें हैं, लेकिन तीस पाठ्यक्रम में विद्यार्थियों ने प्रवेश में दिलचस्पी दिखाई है। डिप्लोमा, सर्टिफिकेट, स्नातक-स्नातकोत्तर सहित तीस पाठ्यक्रम में सीटें खाली रह गई। अभी तक इन्हें भरने के लिए विभागीय स्तर पर कालेज लेवल काउंसलिंग (सीएलसी) के दो चरण हो चुके हैं। बावजूद इसके विद्यार्थियों ने आवेदन नहीं किए हैं। बीवाक-एमवाक कोर्स में विद्यार्थियों की कमी है। बीवाक इन न्यूटीशियन, फैशन डिजाइनिंग में विद्यार्थियों ने रुचि दिखाई है, लेकिन लैंडस्केप डिजाइन, खादी व हैंडलूम में 8 से 10 सीटें भरी है। एमवाक में पांच एडमिशन हुए हैं।

30 सितंबर तक मिलेगा दाखिला - सितंबर में पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर लाइब्रेरी साइंस, ला, इकोनोमिक्स, आइएमएस से संचालित कोर्स में प्रवेश दिए गए हैं। पिछले साल शुरू हुए एमए स्पोर्ट्स सायकोलाजी में सीटें खाली हैं। 30 सितंबर तक विद्यार्थियों को दाखिला दिया जाएगा। वैसे ही आइएमएस से संचालित एमबीए एक्जीक्यूटिव और एमबीए हास्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में अस्थायी प्रवेश सूची निकाली है, जिसमें विद्यार्थियों को अगले सात दिन में दस्तावेज देना है। नान सीईटी के सदस्य डा. माया इंगले ने बताया कि प्रत्येक विभाग अपने स्तर पर कोर्स में प्रवेश दिए जा रहे हैं।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close