इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Evaluation Center Indore। स्वशासी का दर्ज पाने के लिए माता जीजाबाई शासकीय कन्या महाविद्यालय (ओल्ड जीडीसी) अपने यहां बने मूल्यांकन केंद्र को बंद करवाना चाहा रहा है। मामले में देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (देअवीवी) को पत्र लिखा है। अगले कुछ दिनों में विश्वविद्यालय प्रशासन इसे लेकर फैसला ले सकता है। कुलपति डा. रेणु जैन ने अधिकारियों की बैठक दिवाली बाद बुलाई है। हालांकि विश्वविद्यालय अन्य कालेज में केंद्र बनाने के विकल्प पर ध्यान दे रहा है।

पीजी के बाद अब कालेज यूजी कोर्स में स्वशासी का दर्जा हासिल करने का प्रयास कर रहा है। नवंबर में नैक की टीम निरीक्षण करने आने वाली है। इसे पहले कालेज को डीएवीवी का केंद्र अपने परिसर से हटाना है। ताकि उक्त हाल में कालेज अपना केंद्र को संचालित कर सके।अधिकारियों के मुताबिक सारे कोर्स स्वशासी होने पर कालेज को खुदका केंद्र स्थापित करना है। इसके लिए विश्वविद्यालय को सितंबर में पत्र भेजा जा चुका है।

सूत्रों के मुताबिक केंद्र बंद करने से पहले विश्वविद्यालय अन्य कालेज में जगह ढूंढने में लगा है। इसके लिए सरकारी कालेजों से खाली भवन संबंधित जानकारी मांगी है। प्रभारी रजिस्ट्रार अनिल शर्मा का कहना है कि केंद्र को लेकर फैसला अभी नहीं हुआ है। मामले में कुलपति ने दिवाली बाद बैठक कर चर्चा करने की बात कहीं है।

होती है कापियां वितरित

कापियों की कोडिंग-डी कोडिंग कर विश्वविद्यालय इन्हें कालेज के मूल्यांकन केंद्र पर भेजता है। यहां से शिक्षकों को कापियां जांचने के लिए वितरित की जाती है। मूल्यांकन के बाद शिक्षक इन्हें यहीं जमा करते है। विश्वविद्यालय के मुताबिक अग्रणी कालेज होने के नाते ओल्ड जीडीसी में केंद्र बनाया है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local