उदय प्रताप सिंह, इंदौर। इंदौर सहित देशभर में अभी कोविड के ओमिक्रान वेरिएंट को लेकर चिंता जताई जा रही है। जबकि इंदौर में पहले से मौजूद डेल्टा वेरिएंट अब भी मरीजों की मुश्किलें बढ़ा रहा है। शहर के अरबिंदों अस्पताल में करीब तीन माह बाद डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित दो मरीज भर्ती हुए जिनकी जांच में फेफड़ों में 70 फीसद से अधिक संक्रमण मिला। इन मरीजों की स्थिति इतनी गंभीर हो गई थी बाइपेप व वेंटीलेटर पर रखकर उपचार करना पड़ा। ऐसे में चिकित्सकों को कहना है कि डायबीटिज, ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर बीमारी वाले मरीजों को अब भी काफी सावधानी रखने की जरुरत है।

वैवाहिक कार्यक्रम के बाद बुजुर्ग हुए संक्रमित

इंदौर में रहने वाले 65 वर्षीय बुजुर्ग के परिवार में विगत दिनों वैवाहिक कार्यक्रम था। इस आयोजन में विदेश से भी मेहमान आए थे। आयोजन के पश्चता बुजुर्ग में सर्दी,खांसी व बुखार के लक्षण दिखाई दिए। इन लक्षणों के होने के बाद भी बुजुर्ग अस्पताल में उपचार के लिए 9 से 10 दिन बाद भर्ती हुए। सिटी स्कैन जांच में मरीज के फेफड़ों में 85 फीसद तक संक्रमण मिला।

अमेरिका से लौटकर 15 दिन तक अलग-अलग शहरों में घूमे, फिर हुए संक्रमित

उज्जैन के रहने वाले 58 वर्षीय व्यक्ति अमेरिका में कंस्ट्रक्शन का व्यवसाया करते है। 15 दिन पहले वो अमेरिका से लौटकर हैदराबाद पहुंचे। इसके बाद वे काशी विश्वनाथ, लखनऊ, उज्जैन, आगर मालवा भी गए हैं। पिछले दिनों हैदराबाद जाने के लिए उन्होंने शहर की निजी लैब में जांच करवाई, जिसमें वो पाजिटिव पाए गए। उन्हें सांस लेने में परेशानी, खांसी व सीने में दर्द हुआ। अस्पताल में भर्ती होकर जब जांच करवाई तो फेफड़ों में 70 फीसद तक संक्रमण मिला।

तीन माह बाद इतने गंभीर संक्रमित मरीजों को देखा

अरबिंदो अस्पताल के चेस्ट रोग विशेषज्ञ डा. रवि डोसी के मुताबिक तीन माह बाद अस्पताल में दो गंभीर संक्रमण वाले भर्ती मरीजों को देखा। पिछले कुछ दिनों में अस्पताल में करीब 9 मरीज भर्ती हुए हैं। इनमें से अधिकांश एहतियात के लिए भर्ती हुए और एक से दो दिन में घर लौट गए। दो मरीज ऐसे भर्ती हुए जिनमें कोविड वायरस के डेल्टा एवाय. 91 व एवाय.120 की पुष्टि हुई। इन मरीजों को पहले डायबीटिज, ब्लड प्रेशर की समस्यां थी। हृदय संबंधित बीमारियों के कारण ये मरीज रक्त धमनियों में स्टेंट भी डलवा चुके थे। सीटी स्कैन जांच में इनमें 70 फीसद से ज्यादा संक्रमण मिला। इससे स्पष्ट है कि संक्रमण होने के बाद देर से ये अस्पताल उपचार के लिए आए। इनकी गंभीर स्थिति होेने के कारण इन्हें बाइपेप व वेंटीलेटर पर भी रहना पड़ा। हालांकि अब दोनों मरीज स्वसथ और उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। एहतियात के तौर पर उन्हें आइसीयू में रखा गया है।

नाइजीरिया से आए संक्रमित बच्चों के लिए मां भी रह रही अस्पताल में

पिछले दिनों नाइजीरिया से अपनी मां के साथ लौटे दोनों बच्चों की इंदौर में हुई जांच में संक्रमण की पुष्टि हुई। फिलहाल ये दोनों बच्चे एमआरटीबी अस्पताल में भर्ती। जांच में दो बार बच्चों की मां की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। हालांकि बच्चों के लिए मां भी फिलहाल एमआरटीबी अस्पताल में अलग कक्ष में रह रही है और बच्चों को दूर से देख उनके स्वास्थ्य की जानकारी ले रही है। एमआरटीबी अस्प्ताल में फिलहाल कोविड संक्रमित पांच मरीज भर्ती है। शनिवार को शहर में मिले आठ संक्रमितों में दो मरीज श्रीनगर कालोनी, दो कृष्णा अपार्टमेंट के है। इसके अलावा ऊषा नगर एक्सटेेंशन, समर्थ पार्क व व्यंकटेश नगर में भी एक-एक मरीज में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local