इंंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंजाब में कांग्रेस अध्यक्ष नवजोतसिंह सिद्धू के त्यागपत्र पर पूर्व मुख्यमंंत्री दिग्विजय सिंह ने कुछ भी बोलने से इन्कार कर दिया। इस मामले पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर सिंह ने प्रतिप्रश्न के अंदाज में कहा कि यदि बदलाव भाजपा करती है तो वह मास्टर स्ट्रोक और हम करें तो अव्यवस्था! कांग्रेस की रैली पर प्रशासन द्वारा प्रकरण दर्ज करने पर सिंह ने कहा कि यही तो हो रहा है। जब केंद्रीय मंंत्री का रोड शो हो या युवा मोर्चा अध्यक्ष रैली निकालें तो प्रकरण दर्ज नहीं होता। अधिकारी भाजपा के कार्यकर्ता बनकर काम कर रहे हैं।

इंदौर आए पूर्व मुख्यमंंत्री ने सरस्वती शिशु मंदिरों पर दिए अपने बयान पर कहा कि मैं उस विचारधारा के खिलाफ हूं और लड़ाई कर रहा हूं, जो सद्भाव बिगाड़ती है। मेरा बयान उन लोगों के खिलाफ है जो ऐसी विचारधारा को पनपने में मदद करते हैं। छात्र उसमें पढ़ते हैं, उनके बारे में मुझे कुछ नहीं कहना।

सिंह ने यह भी कहा कि कानून व्यवस्था प्रदेश में खत्म है। शराब ठेकेदारों के बीच सरेआम गोलियां चलती हैं। भाजपा का एक गुट कुछ और कहता है दूसरा कुछ और कहता है। गोवा में पूर्व मंत्री के दलबदल पर सिंह ने कहा कि गडकरी जी ने सही कहा था कि मंत्री पद पाने के लिए लोग दलबदल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गोवा में 6 से हम 18 सीटों तक पहुंंचे थे, लेकिन मेरी कुंडली में लिखा है कि जो काम मैं करूंगा, उसका श्रेेय मुझे नहीं मिलेगा। सिंह ने दावा किया कि खंडवा उपचुनाव में भी लोगों का गुस्सा भाजपा की हार के रूप में निकलेगा।

दिग्विजय सिंह ने शहर प्रवास पर लोकसभा की पूर्व अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन के निवास पर जाकर उनसे मुलाकात की।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local