Yashwant Club Indore इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कुलीनों के कुल कहलाने वाले यशवंत क्लब में चुनाव से पहले गंदी राजनीति शुरू हो गई है। यहां क्लब सदस्यों के चरित्र को लेकर अपमानजनक बातें फैलाने का मामला सामने आया है। इसे लेकर डेली कालेज बोर्ड आफ गवर्नर्स के सदस्य ने बकायदा पुलिस कमिश्नर को लिखित शिकायत की है।

यशवंत क्लब के चुनाव अगले माह होना हैं। इस क्लब में राजपरिवार, उद्योगपति, पूर्व खिलाड़ी सहित शहर के संभ्रांत परिवार के सदस्य हैं। क्लब के वरिष्ठ सदस्य धीरज लुल्ला के खिलाफ महिला से संबंधों को लेकर अपमानजनक बातें फैलाई गईं। धीरज यहां एक गुट से जुड़े हैं। धीरज का आरोप है कि अपमानजनक संदेश वाट्सएप पर भेजे गए और मौखिक भी इस तरह की बातें क्लब सदस्यों को बताई गईं। यह सब यशवंत क्लब चुनाव के कारण हो रहा है, ताकि उनकी छवि खराब हो। उन्होंने कहा- मैं परिवार के साथ शादी में शामिल होने गोवा गया था। वहां मुझे पता चला कि मेरे बारे में इस तरह की बातें फैलाई जा रही हैं। मैंने इंदौर लौटकर पुलिस को इसकी लिखित शिकायत की है। यह सब बातें ध्रुवराज आलीराजपुर और रंधीर सलूजा (बंटी) द्वारा फैलाई गई हैं। मैंने पुलिस से यह भी कहा है कि जिस होटल की बात की जा रही है, वहां की पूरे साल की रिकार्डिंग निकालिए।

उन्होंने कहा कि मैं वहां सिर्फ एक बार डेली कालेज के कार्यक्रम में गया था। जिस समय की बात की जा रही है, तब मैं परिवार के साथ गोवा में था। मैंने पुलिस को अन्य साक्ष्य भी दिए हैं। इस तरह की आधारहीन बातों के कारण मेरे परिवार और बच्चों पर बुरा असर पड़ा है।

आरोपों पर रंधीर सलूजा ने कहा- हमने कुछ गलत बातें नहीं फैलाई हैं। आरोप निराधार हैं। उन्हें सबूत पेश करना चाहिए। वहीं ध्रुवराज ने कहा- आरोप गलत हैं। मैं तो अजमेर गया था। मेरे पारिवारिक संबंध झाबुआ परिवार से हैं और हो सकता है इस कारण मेरा नाम शिकायत में डाला गया। उल्लेखनीय है कि यशवंत क्लब के चुनाव दो साल में होते हैं, लेकिन कोरोना के कारण चार साल बाद चुनाव हो रहे हैं। इस बार यहां परमजीत सिंह छाबड़ा और टोनी सचदेवा गुट के बीच टक्कर है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close