इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि) Indore News। खान सरस्वती नदी में मिलने वाले दूषित पानी को रोकने के लिए नगर निगम द्वारा वृहद स्तर पर कई इलाकों में नाला टेपिंग की गई। नाले के आउटफाल व घरेलू सीवरेज पानी को नालों में जाने से रोका गया। इसके बाद भी नालों में गंदा पानी आने की समस्या कुछ इलाकों में बनी हुई है। आयुक्त ने निर्देश दिए हैं कि सभी जोनल अधिकारी अपने क्षेत्र के पीएचई के सहायक यंत्री के साथ हर नाले के किनारे पैदल घूमकर यह पता करें कि किन स्थानों से अब भी नालों में गंदा पानी आ रहा है। ऐसे स्थानों को चिन्हित कर अगले दो दिन में सुधार कार्य किया जाएगा।

निगमायुक्त ने मंगलवार को नाला टेपिंग कार्य व पीएचई के पाइप लाइन कार्यों के रेस्टोरेशन के संबंध में सिटी बस आफिस में समीक्षा बैठक ली। आयुक्त ने बैठक में पाइप लाइन डालने के कारण जिन भी स्थानों पर खोदाई की गई है वहां पर रेस्टोरेशन कार्य कितना पूर्ण हुआ और बचा हुआ कार्य कब तक पूरा किया जाएगा, इसकी जानकारी ली। जिस भी स्थान पर ठेकेदार या सीएंडडी वेस्ट या मिट्टी का ढेर लगा है और उसे उठाया नहीं गया है तो उनके विरुद्ध पेनल्टी लगाने के निर्देश दिए।

नर्मदा का पानी व्यर्थ नाले में बहने पर निगम का सहायक यंत्री निलंबित

महूनाका चौराहे पर नर्मदा का पानी लीकेज में सुधार नहीं होने के कारण बहकर लोधा कालोनी, अर्जुनपुरा के नाले में जा रहा था। समीक्षा बैठक के दौरान आयुक्त ने इस लीकेज के बारे में पीएचई के सहायक यंत्री मनोज रघुवंशी से कारण पूछा लेकिन उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। इस पर आयुक्त ने लापरवाही व नर्मदा का पानी व्यर्थ बहने पर सहायक यंत्री को निलंबित करने के निर्देश दिए।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags