इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News। एड्यूक्रिएट वेयर टैलेंट मीट्स एक्सीलेंस द्वारा टाक शो का आयोजन किया गया। इसमें वक्ता के रूप में सामाजिक कार्यकर्ता मोनिका पुरोहित को आमंत्रित किया गया था। उन्होंने विभिन्न तरह की डिसेबिलिटी के बारे में बात की।

उन्होंने कहा कि सेरीबम पाल्सी, आटिज्म, डिस्लेक्सिया, डिस्केलक्यूलेक्सिया, डिसग्राफिया, मूक बधिर, ब्लाइंड लो विजन और अन्य तरह की डिसेबिलिटी होती है। हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि यह डिसेबिलिटी है कोई बीमारी नहीं इसलिए इस परेशानी से जूझ रहे व्यक्तियों की मदद करना चाहिए न कि उनसे दूरी बनाना चाहिए। उन्होंने डिसेबिलिटी को रहने और अन्य सुविधाओं के बारे में बताया कि हम सामाजिक संस्थान है और विशेष तौर पर हम डिसेबिलिटी से संबंधित समस्याओं पर ही काम करते हैं। ऐसे में हम किसी भी प्राइवेट संस्था का प्रचार नहीं करते हैं। हम खुद बच्चों के लिए रहने, खाने और शिक्षा की व्यवस्था कर रहे हैं।

डिसेबिलिटी से पीड़ित बच्चों और महिलाओं की समस्या पुलिसकर्मी, बैंककर्मी और अन्य जिम्मेदार विभाग समझ सके इसके लिए हम उन्हें प्रशिक्षण देते रहते हैं। उन्होंने कहा कि डिसेबिलिटी से पीड़ित लोगों को जीवन में कई तरह की समस्या का सामना करना पड़ता है इसलिए हमें उनकी परेशानी को कम करने की कोशिश करना चाहिए। मूक-बधिर के साथ यह समस्या आती है कि उनके घर पर अगर कोई बाहरी व्यक्ति आता है तो वे डोरबेल की आवाज नहीं सुन पाते हैं। ऐसे में हम उन्हें सलाह देते हैं कि आप डोरबेल की बटन के साथ एक बल्ब भी फिट करवाएं। इससे बाहर का व्यक्ति जब बटन दबाएगा तो घर के अंदर पता लगा जाएगा कि कोई आया है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local