इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,District Court Indore News। जिला कोर्ट के रिकार्ड रूम में गुरुवार शाम लगी आग पर शुक्रवार सुबह तक काबू नहीं पाया जा सका। रातभर आग धधकती रही। आग के चपेट में आने से जिला कोर्ट का रिकार्ड पूरी तरह से जल गया है। इस रिकार्ड रूम में करीब 50 साल के दस्तावेज सहेज हुए थे। गुरुवार देर रात सुरंग बनाकर तलघर में पहुंचकर आग नियंत्रित करने की कोशिश होती रही, बावजूद इसके आग पर काबू नहीं पाया जा सका। शुक्रवार को जिला कोर्ट की पुरानी इमारत में लगने वाले सभी न्यायालयों में काम नहीं होगा। जिला कोर्ट की तदर्थ समिति ने वकीलों से अपील की है कि वे पुरानी इमारत के आसपास न जाएं।

जिला कोर्ट के रिकार्ड रूम में गुरुवार शाम करीब 6.30 बजे आग लगी थी। उस वक्त कैरम रूम में कुछ वकील खेल में व्यस्त थे। जब उन्हें कुछ जलने की बदबू आई तो उन्होंने तुरंत पड़ताल शुरू कर दी। पता चला कि बेसमेंट में बने रिकार्ड रूम में आग लग गई है और रिकार्ड धूं-धूं कर जल रहा है। वकीलों ने तुरंत इसकी जानकारी जिला जज और फायर ब्रिगेड को दी। फायर ब्रिगेड के मौके पर पहुंचने के पहले ही बहुत-सा रिकार्ड जल चुका था। तलघर की खिड़कियां तोड़कर पाइप के जरिए पानी तलघर में फेंका गया। इसके बाद भी आग रह-रहकर धधकती रही। जिला कोर्ट की इमारत के आसपास वकीलों द्वारा बनाए गए शेड की वजह से भी आग पर काबू पाने में दिक्कत आई। देर रात तक जब आग पर काबू नहीं पाया जा सका तो फिर फोटोकापी दुकान के पास से सुरंग बनाकर पाइप तलघर में पहुंचाने की कोशिशें शुरू हुई। तदर्थ समिति के संयोजक एडवोकेट कमल गुप्ता के मुताबिक आग पर काबू पाने की कोशिश शुक्रवार सुबह भी जारी रही। गुरुवार रातभर आग जलती रही।

पुरानी बिल्डिंग में नहीं जाने की अपील

तदर्थ समिति के मीडिया प्रभारी एडवोकेट राकेश पाल ने बताया कि शुक्रवार को पुरानी बिल्डिंग में लगने वाली सभी कोर्टों में काम नहीं होगा। समिति ने वकीलों से अपील की है कि वे पुरानी बिल्डिंग के आसपास न जाएं क्योंकि आग अब भी जल रही है।

50 साल का रिकार्ड जला

जिला न्यायालय के तलघर में यह रिकार्ड रूम 1952 से चल रहा है। इसमें 40-50 साल का रिकार्ड सहेजा हुआ था। कई सीविल मामलों में तो अब भी हाई कोर्ट में अपीलें लंबित हैं। वकीलों के मुताबिक जिन मामलों में रिकार्ड जल गया है और अपीलें लंबित हैं ऐसे मामलों में क्या होगा इसे लेकर संशय है। आग लगने के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags