इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Indore News । इंदौर जिले में सामाजिक न्याय विभाग द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से दिव्यांगजनों के लिए निशक्तता प्रमाण-पत्र बनाने की विशेष व्यवस्था की गयी है। इसके तहत जिले के ऐसे दिव्यांगजन जिनका अभी तक निशक्तता प्रमाण पत्र नहीं बना है या उनके प्रमाण पत्र में कोई गलती है, उनके नए प्रमाण पत्र बनाने का कार्य गुजराती कॉलेज के सामने हुकुमचंद पॉली क्लीनिक में स्थित जिला चिकित्सालय में किया जाएगा। यह व्यवस्था सोमवार 18 अक्टूबर से प्रारंभ हो रही है।

संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय सुचिता बेक तिर्की ने बताया कि जिला चिकित्सालय में प्रत्येक सोमवार को कंटोमेंट बोर्ड डॉ. अम्बेडकर नगर महू, नगर पंचायत महू गांव, मानपुर तथा राऊ और जनपद पंचायत महू के दिव्यांजनों के प्रमाण पत्र बनेंगे। इसी तरह प्रत्येक मंगलवार को जनपद पंचायत देपालपुर एवं सांवेर तथा नगर पंचायत देपालपुर, गौतमपुरा, हातोद और बेटमा के दिव्यांगजनों के प्रमाण पत्र बनाये जाएंगे।

इसी प्रकार प्रत्येक बुधवार को इंदौर नगरीय क्षेत्र एवं इंदौर जनपद पंचायत के ग्रामीण क्षेत्रों के दिव्यांगजनों के प्रमाण पत्र बनेंगे। प्रमाण पत्र बनवाने के लिए इच्छुक दिव्यांगजन को निर्धारित दिन में सुबह नौ बजे से सुबह 11 बजे तक अपना पंजीयन करवाना होगा। पंजीयन के पश्चात दोपहर एक बजे तब उनके प्रमाण पत्र बनवाने के कार्य किए जाएंगे। मानसिक दिव्यांगजनों के लिए माह के प्रथम एवं तृतीय बुधवार को निशक्तता प्रमाण पत्र बनेंगे।

गौरतलब है कि पिछले दिनों दिव्यांगजनों ने इस प्रकार से प्रमाण पत्र बनने में आ रही परेशानी की शिकायत अधिकारियों से की थी। इसके बाद यह नए इंतजाम किए गए हैं जिससे उन्हें कोई परेशानी नहीं हों।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local