Doctor's Advice in the Corona Era इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना महामारी के कारण कई लोगों में डर बन गया है। कोरोना से संक्रमित कई मरीज आक्सीमीटर का बार-बार उपयोग कर रहे हैं। कोई हर घंटे में आक्सीजन स्तर चेक कर रहे हैं तो कोई दो से तीन घंटे में। ऐसे में कई कारणों से आक्सीमीटर थोड़ा सा नीचे चला जाता है तो मरीज और परिजन चिंतित होने लगते हैं। आक्सीमीटर के उपयोग के बारे में डाक्टर्स का कहना है कि कोरोना से संक्रमित सामान्य व्यक्ति अगर दिन में दो या तीन बार भी आक्सीजन स्तर चेक कर लेते हैं तो काफी है।

जिन मरीजों का आक्सीजन स्तर कम है और वे घर पर इलाज करा रहे हैं उनके संबंध में डाक्टर ने जो सलाह दी है उसका पालन करना ठीक रहता है। बिना वजह के आक्सीमीटर का बार-बार उपयोग करने से तनाव बढ़ता है। कई व्यक्ति जिन्होंने कोरोना का टेस्ट नहीं कराया है वे भी आक्सीमीटर रखने लगे हैं। वे भी चेक करने लगे हैं कि उनका आक्सीजन स्तर कितना है।

डाक्टर्स का कहना है कि बिना किसी लक्षण या संक्रमण के आक्सीमीटर का उपयोग सामान्य व्यक्ति को करने की जरूरत नहीं है। ह्दय रोग विशेषज्ञ डा. भारत रावत का कहना है कि इस तरह के मामले देखने को मिल रहे हैं जिसमें डर के कारण परिवार के सदस्य तनाव ले रहे हैं। इससे उन्हें कभी-कभी घबराहट होने की समस्या भी होती है। महामारी के पहले जब डाक्टर मरीज को आक्सीमीटर से आक्सीजन चेक करने के लिए कहते थे तो ही इसका उपयोग किया जाता था लेकिन अब तो जिनका स्वास्थ्य बेहतर है वे भी इसका उपयोग कर रहे हैं। कोरोना से संक्रमित सामान्य व्यक्ति इसका उपयोग दो से तीन बार करेंगे तो भी उन्हें पता लगता रहेगा कि आक्सीजन की क्या स्थिति है।

उपचार हो जाने के बाद दूसरों को उपयोग करने के लिए दें

डा. विशाल जैन का कहना है कि आक्सीमीटर को लेकर परिवार के सदस्य कंफ्यूजन में है। जिनको नहीं जरूरत है वे भी बाजार में लेने पहुंच रहे हैं और इससे ज्यादातर दवाई की दुकानों पर आक्सीमीटर खत्म हो गए हैं या महंगे दामों पर बेचे जा रहे हैं। सामान्य दिनों में 700 से एक हजार रुपये में उपलब्ध हो जाने वाले आक्सीमीटर 1200 से 1500 में बेचे जा रहे हैं। एक आक्सीमीटर का उपयोग परिवार के सभी सदस्य कर सकते हैं और उपचार हो जाने के बाद दूसरों को भी उपयोग के लिए दे सकते हैं। आक्सीमीटर कई सालों तक सर्विस देते हैं। अधिकतर आक्सीमीटर के परिणाम भी सटीक ही रहते हैं। आक्सीमीटर वे सामान्य व्यक्ति न खरीदें जो पूरी तरह स्वस्थ हैं। जिन्हें इसकी जरूरत है वे ही इसका उपयोग करे तो बेहतर है।

डा. आरपी माहेश्वरी का कहना है कि मास्क लगाने से भी आक्सीमीटर के परिणाम में उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है। जब भी आक्सीमीटर का उपयोग करें सामान्य स्थिति में बैठकर आराम से आक्सीजन की मात्रा चेक करें।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags