Durga Puja 2022 : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर में विभिन्न स्थानों पर बंगाली समाज की पांच दिनी दुर्गा पूजा की शुरुआत षष्ठी के दिन 1 अक्टूबर से होगी। शंख ध्वनि के बीच मां दुर्गा का आगमन पुत्र गणेश और कार्तिकेय संग ससुराल से मायके होगा। इस दौरान धुनुुची नृत्य के साथ ही सिंदूर उत्सव का उल्लास छाएगा। माता के आगमन की तैयारी बड़े पैमान पर बंगाली समाज द्वारा की जा रही है।

बंगाली क्लब में बंगाली कारीगरों द्वारा मां दुर्गा की 15 फीट ऊंची मूर्ति तैयार की गई है। दुर्गा पूजा कमेटी के सचिव अंबुज दत्ता ने बताया कि 1 अक्टूबर को नौलखा स्थित बंगाली क्लब पर सुबह 7 बजे कल्पारंभ और षष्ठी बिहित पूजा की जाएगी। इसके बाद सप्तमी पर 2 अक्टूबर को सुबह 11.30 बजे पुष्पांजलि और प्रसाद वितरण किया जाएगा। शाम 7.30 बजे आरती, धुनुची नृत्य और सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। 3 अक्टूबर को महाअष्टमी और 4 अक्टूबर को नवमी के दिन शाम 7.30 बजे आरती और धुनुची नृत्य होगा। दशमी के दिन 5 अक्टूबर को सिंदूर उत्सव सुबह 10 बजे होगा।

बंगाली स्वर्णकार समिति निकालेगी शोभायात्रा - बंगाली समाज स्वर्णकार समिति द्वारा शुक्रवार को पल्हर नगर चौराहे से बघेरवाल धर्मशाला एयरपोर्ट रोड तक चल समारोह निकाला जाएगा। बंगाली समाज स्वर्णकार समिति के अध्यक्ष निमाई चांद बेरा एवं संचालक डा. जीसी राय ने बताया कि विगत 24 वर्षों से समाज विभिन्न धार्मिक एवं सामाजिक आयोजन करता आ रहा है। कोरोना के दो वर्ष पश्चात इस बार फिर पांच दिवसीय महोत्सव मनाया जा रहा है। इसमें मां दुर्गा, लक्ष्मी, सरस्वती, गणेश और कार्तिकेय की मूर्तियां विराजित की जाएंगी। चल समारोह में महिलाएं पारंपरिक वेशभूषा में शंखनाद करते हुए चलेंगी।

कहीं बन रहा काली शिव मंदिर तो कहीं होगा राजस्थानी स्वरूप में श्रृंगार

  • बंगाली परिवार कल्याण समिति द्वारा सिलिकान सिटी में मां काली-शिव मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। कोलकाता के कालीघाट के महाकाली मंदिर की प्रतिकृति में मां दुर्गा को विराजित किया जाएगा।
  • बंगाली एसोसिएशन इंदौर ईस्ट कालीबाड़ी द्वारा सुखलिया में 1 अक्टूबर को घट स्थापना होगी। इस बार पंडाल में 12 फीट ऊंची मूर्ति विराजित की जाएगी। माता का श्रृंगार राजस्थानी स्वरूप में होगा।
  • बंगाली कालोनी कालका मंदिर में मां दुर्गा की मूर्ति स्थापित की जाएगी। इस अवसर पर विभिन्न धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close