इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

लोगों से प्लॉट हड़पकर कब्जा करने वाले बदमाश मुख्तियार से भयभीत एक परिवार ने करोड़ों रुपए कीमत के आठ प्लॉट पर जाना छोड़ दिया। परिवार ने एक बार प्लॉट देखने की कोशिश की तो उसने कहा कि यहां गोलियां चलती हैं। तुम्हारी हत्या कर देंगे। पुलिस ने बुधवार रात उसके खिलाफ अलग-अलग पीड़ितों की शिकायत पर आठ केस दर्ज कर लिए। इसमें कई दुकानदारों की भूमिका भी संदिग्ध है।

विजय नगर थाना टीआई तहजीब काजी के मुताबिक अनुराग नगर निवासी नरपतसिंह लोढा और उनके भाई धनपतसिंह ने शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने कहा कि वर्षों पूर्व परिवार के सदस्यों ने राधिका कुंज में आठ प्लॉट खरीदे थे। कॉलोनी का विकास नहीं हुआ तो किराए के मकान में रहने लगे। कुछ समय पूर्व प्लॉट देखने गए तो मुख्तियार उन पर कब्जा कर चुका था। पूछताछ की तो उसके साथी आ धमके और कहा यहां गोलियां चलती हैं। दोबारा आए तो हत्या कर देंगे। इसके बाद परिवार की आने की हिम्मत नहीं हुई। मुख्तियार ने वहां शोरूम, दुकान, गोदाम बनाकर लाखों रुपए महीना किराए पर दे दिए। उसने बिजली कनेक्शन भी साथी व भाइयों के नाम पर ले लिया। गिरफ्तारी की खबर मिलने पर मंगलवार को पीड़ितों ने शिकायत दर्ज करवाई।

रासुका का प्रस्ताव भेजा

पुलिस ने मुख्तियार के साथी पंकज को कोर्ट में पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया। मुख्तियार ने खुद तीन मामलों में उसके साथ संलिप्त होना कबूला है। टीआई के मुताबिक पंकज से पूछताछ की जा रही है। पीड़ितों से दस्तावेज मंगवाए हैं। उधर एसपी (पूर्व) मो. यूसुफ कुरैशी ने धमकी और कब्जे में लिप्त मुख्तियार, सोहेल खान और सूरज जाट पर रासुका लगाने का प्रस्ताव तैयार कर कलेक्टर को भेज दिया है।