इंदौर। सिटी वॉक फेस्टिवल के तहत शनिवार को बोलिया सरकार, कृष्णपुरा की छत्रियों, मराठी स्कूल और बांके बिहारी मंदिर का इतिहास बताया गया। मध्यप्रदेश पर्यटन और इंदौर टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल के जरिए यह वॉक कराई गई जिसमें पर्यटन और धरोहरप्रेमी शामिल हुए।

वॉक की शुरुआत बोलिया सरकार की छत्रियों से हुई और राजवाड़ा पर आकर इसका समापन हुआ। अपर कलेक्टर कैलाश वानखेड़े, काउंसिल के नोडल अधिकारी विष्णुप्रताप सिंह, पर्यटन विकास निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक, दिल्ली की संस्था सिटी एक्सप्लोर के समन्वयक श्रवण शर्मा आदि इस वॉक में मौजूद रहे। इतिहास और धरोहर के जानकारों ने बोलिया सरकार की छत्रियों के इतिहास, डिजाइन और संरचना की जानकारी दी। देवलालीकर कला वीथिका का इतिहास भी बताया गया। कृष्णपुरा पहुंचने पर होलकरकालीन प्रचलित कथाओं के जरिए रोचक जानकारी दी गई। राजवाड़ा के सामने उद्यान में अहिल्या माता की प्रतिमा के समक्ष होलकर इतिहास से जुड़ी प्रसिद्ध महिलाओं के योगदान और खासगी ट्रस्ट से जुड़ी रोचक जानकारियां भी दी गईं। रविवार को लालबाग के आसपास सिटी वॉक का आयोजन होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना