इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Electricity Indore News। राज्य शासन ने नेट मीटरिंग सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के लिए दूसरे चरण में 40 फीसदी तक सब्सिडी की घोषणा की है। उपभोक्ता अपने घर, बहुमंजिला रहवासी इमारत की छतों का सदुपयोग कर बिजली उत्पादन कर सकते हैं। बिजली कंपनी इन संयंत्रों को नेट मीटरिंग से जोड़ेगी। इससे उनके घर का बिजली बिल भी कम हो जाएगा।

मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी इंदौर के मुख्य अभियंता एसएल करवाड़िया ने बताया कि प्रबंध निदेशक अमित तोमर के निर्देशन में कंपनी क्षेत्र में नेट मीटरिंग सौर ऊर्जा को सतत् बढ़ावा दिया जा रहा है। शासन के आदेशानुसार नेट मीटरिंग प्रोत्साहन योजना के दूसरे चरण में 15 मेगावाट के संयंत्र लगाने पर कार्य हो रहा है। इसके लिए इंदौर समेत सभी 15 जिलों में उपभोक्ताओं से घर-घर संपर्क कर योजना की जानकारी दी जा रही है।

करवाड़िया ने बताया कि नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग के आदेशानुसार 10 किलोवाट क्षमता के घरेलू उपभोक्ताओं को 40 प्रतिशत तक सब्सिडी मिलेगी। ग्रुप हाउसिंग सोसायटी के 500 किलोवाट क्षमता संयंत्र पर 20 फीसदी सब्सिडी प्राप्त होगी। इच्छुक उपभोक्ता मप्रपक्षेविविकं की वेबसाइट WWW.MPWZ.CO.IN या समीप के बिजली वितरण केंद्र, जोन, संभागीय कार्यालय पर संपर्क कर योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

पहले से शहर में 850 प्लांट

अभी इंदौर में 850 स्थानों पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगे है। बिजली कंपनी ने इन्हें नेट मीटरिंग से जोड़ा है। यानी सौर ऊर्जा से पैदा बिजली की गणना मीटर से की जाती है। उपभोक्ता के बिजली बिल में उतनी यूनिट की छूट दे दी जाती है, जितनी बिजली छत के सौर ऊर्जा संयंत्र से बनाई गई। कंपनी क्षेत्र यानी इंदौर-उज्जैन संभाग में कुल 1750 उपभोक्ता अपनी छतों पर पैनल लगाकर इस्तेमाल से बिजली तैयार कर रहे हैं। कंपनी क्षेत्र में नेट मीटर संयंत्रों की कुल क्षमता 36 मेगावाट से ज्यादा है।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags