इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उदयपुर की आतंकी घटना देखकर लगता है कि अब समय आ गया है जब समाज व हर सरकार को यह सोचना चाहिए कि मदरसों में आधुनिक शिक्षा भी दी जाए। हम मदरसों पर नियंत्रण नहीं चाहते। वहां कुरान की पढ़ाई करवाएं लेकिन साथ ही कंप्यूटर के माध्यम से आधुनिक शिक्षा भी दें। मदरसे में पढ़ा व्यक्ति कभी डाक्टर या इंजीनियर नहीं बन सकता। जरूरी है कि वहां आधुनिक शिक्षा भी दी जाए ताकि यहां पढ़ा व्यक्ति डाक्टर, इंजीनियर, सीए आदि बने। ऐसा प्रयोग असम और उत्तर प्रदेश में शुरू हो गया है। कुछ अतिवादी लोग इसका विरोध करेंगे, ऐसे में समाज की भी जिम्मेदारी है कि वह साथ दे। यह बात भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने रविवार को कही।

मीडिया से चर्चा में कैलाश विजयवगीय ने कहा कि उदयपुर में हुई घटना से कांग्रेस का चेहरा सामने आ गया है, जो इस आतंकी घटना को सामान्य हत्या मान रही है। यह समाज में आतंक फैलाने का मामला है। ये लोग देश को बदनाम करना चाहते हैं और इन्हें राजनीतिक संरक्षण नहीं मिलना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि अब राजनीति में मर्यादा और संस्कार खत्म हो रहे हैं। तेलंगाना और बंगाल के मुख्यमंत्री विरोध के नाम पर यही कर रहे हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close