इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। धार रोड पर मंगलवार रात वर्चस्व को लेकर दो पक्षों में संघर्ष हो गया। एक गुट ने छह युवकों पर घेरकर हमला बोल दिया। इनमें एक युवक की पेवर ब्लॉक से सिर कुचलकर हत्या कर दी। वह रेसीडेंसी क्लब में स्विमिंग कोच था और राष्ट्रीय स्तर की कई तैराकी प्रतियोगिताओं में भाग ले चुका था। पुलिस ने पांच आरोपितों को हिरासत में लिया है। इनमें भाजपा नेताओं के बेटे भी शामिल हैं। छत्रीपुरा थाना क्षेत्र के सीएसपी डीके तिवारी के मुताबिक घटना रात करीब 1.30 बजे धार रोड स्थित कस्तूर टॉकीज के सामने की है। राहुल बैरागी का छत्रीपुरा थाने के समीप रहने वाले सोनू चौधरी से वर्चस्व को लेकर विवाद चल रहा था।

उसने मंगलवार रात योजनाबद्ध तरीके से सोनू को मिलने बुलाया। सोनू अपने दोस्तों हर्ष पाठक, सौरभ, तरुण, चिंटू और अंकित के साथ वहां पहुंचा तो राहुल ने साथियों के साथ मिलकर उन्हें घेर लिया और हमला कर दिया। इस दौरान हर्ष बाइक लेकर भागने लगा, लेकिन गिर पड़ा। इसके बाद उसके सिर को पेवर ब्लॉक से कुचल दिया। हमले के बाद सभी आरोपित भाग गए। इधर, सोनू और अन्य दोस्त घायल हर्ष को लेकर एमवाय अस्पताल पहुंचे। वहां इलाज के बाद उसे मृत घोषित कर दिया गया।

देर रात आरोपितों के घर दबिश : पुलिस के मुताबिक रविदासपुरा निवासी 20 वर्षीय तरुण पिता कैलाश जाटव ने रिपोर्ट दर्ज कराई। इसमें बताया कि वह सोनू, हर्ष, अंकित, चिंटू, और सौरभ के साथ चाचा के घर खाना खाने जा रहा था। उसी दौरान रविदासपुरा निवासी राहुल बैरागी, मयूर खताबिया, संग्राम सिरवैया, राहुल उर्फ भूरा बैरागी और रंजीत ने हम सभी को कस्तूर टॉकीज के पास रोक लिया। उन्होंने पुराने विवाद को लेकर मारपीट शुरू कर दी। इस दौरान बियाबानी निवासी 28 वर्षीय हर्ष उर्फ बिट्टू पिता प्रद्युम्न पाठक की हत्या कर दी। हम पर भी पत्थरों से हमला किया। पुलिस ने देर रात आरोपितों के घरों पर दबिश दी और पांच को हिरासत में ले लिया।

गरबे में हुई थी कहासुनी

सीएसपी के मुताबिक सोनू बियाबानी क्षेत्र में हर वर्ष गणेश मूर्ति, जबकि राहुल माली मोहल्ला में माताजी की मूर्ति की स्थापना करता है। दोनों के साथ सौ से ज्यादा युवक रहते हैं। दो दिन पूर्व राहुल और सोनू के बीच राजेंद्र नगर क्षेत्र में हो रहे गरबे में कहासुनी हुई थी। उस वक्त कुछ लोगों ने हस्तक्षेप कर मामला रफादफा कर दिया था, लेकिन मंगलवार को राहुल बदला लेने के मकसद से साथियों के साथ बाइक लेकर सोनू के घर के चक्कर लगाने पहुंचा।

दोनों के परिजन कांग्रेस-भाजपा में

हर्ष के पिता लोडिंग वाहन चलाते हैं। चाचा बबली पाठक कांग्रेस से जुड़े हैं। आरोपित के परिजन भी राजनीतिक दल से जुड़े हुए हैं। मयूर के पिता शशि खताबिया और संग्राम के पिता महेश सिरवैया भाजपा में हैं।