इंदौर। थाने में बैठा 60 आपराधिक मामलों में लिप्त शातिर ठग। दो सिपाही और एक अन्य उसकी खिदमत जुटे हैं। समय-समय पर चाय-नाश्ता मुहैया करवाया जा रहा है। जब मन तब इंटरनेट और मोबाइल चलाता है। खाने के बाद सिगरेट भी पीता है, वह भी थानेदार के बगल में बैठकर। यह नजारा परदेशीपुरा थाने का है और ठग का नाम है सुरेश उर्फ भेरिया भंवरलाल घांची। मूलत: पाली (राजस्थान) निवासी भेरिया मजिस्ट्रेट, विधायक, एसपी बनकर राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात, उप्र के 25 जिलों में लाखों रुपए ठग चुका है। उसे 13 जनवरी को क्राइम ब्रांच ने विधायक आकाश विजयवर्गीय की शिकायत पर पकड़ा था। वह एसपी (पूर्व) मोहम्मद यूसुफ कुरैशी बनकर 10 लाख रुपए मांग रहा था। इस वक्त भेरिया परदेशीपुरा थाने में पुलिस रिमांड पर है। लेकिन यहां वह वीआईपी की तरह रहता है। हवालात के बजाय थाने में घूमता है। कुलकर्णी का भट्टा में रहने वाला प्रकाश मालवीय होटलों का खाना खिलाता है। दो सिपाही ऐसे हैं जिनके फोन से दोस्त, गवाह, वकील व पत्नी से बातें करता है।

मुलजिम थाने में, रोजनामचा में राजस्थान की रवानगी : भेरिया से वह मोबाइल और सिम बरामद करना है जिससे विधायक विजयवर्गीय को कॉल किया था। दो दिन पूर्व एसआई को राजस्थान रवाना किया। रोजनामचा में फर्जी इंट्री दर्शा दी। बताया गया कि मुलजिम को लेकर गए हैं जबकि भेरिया थाने में ही है। शनिवार को उसके लिए हवालात के बाहर दरी की व्यवस्था की गई। बगल में हथकड़ी पटक दी। भेरिया पैर पसार कर बैठ गया और दो सिपाहियों से फोन लगवा कर बतियाता रहा।

नटवरलाल के नाम से कुख्यात : भेरिया राजस्थान में मिस्टर नटवरलाल के नाम से कुख्यात है। वह जिस अधिकारी से मिलता है उसकी आवाज निकाल लेता है। एक बार उसने पाली जेल अधीक्षक के नाम से छह लाख ठग लिए थे। उस वक्त भेरिया उसी जेल में निरुद्ध था। बंदियों से मुलाकात के दौरान अधीक्षक से मिला और उनकी आवाज निकाल एक व्यक्ति से खाते में रुपए जमा करवा लिए।

थाने में आरोपित का सिगरेट पीना घोर आपत्तिजनक है। आरोपित सिर्फ कैदी खुराक ही खा सकता है। तलाशी के बाद ही उसे लॉकअप में रखा जाता है। थाने में सिगरेट पिलाने के मामले में कार्रवाई की जाएगी। - विवेक शर्मा, आईजी

सिगरेट किसने पिलाई पता करेंगे : टीआई

सवाल : नकली एसपी बनकर आकाश विजयवर्गीय से 10 लाख रुपए मांगने वाले आरोपित को जांच के लिए राजिस्थान ले गए क्या?

जवाब : हां, उसे टीम के साथ राजस्थान लेकर गए हैं।

सवाल: कोई जब्ती हुई या जब्ती की सूचना मिली क्या?

जवाव : अभी कोई जब्ती नहीं हुई है।

सवाल : लेकिन वह तो यहीं पर है, उसकी धुएं के छल्ले उड़ाते हुए शुक्रवार की फोटो व वीडियो भी है। जवाब : (सकपकाते हुए) हां टीम गई है, उसे नहीं ले गए। सब इंस्पेक्टर गए हैं, अभी पार्टी लौटी नहीं है। रात में लौट आएगी।

सवाल : उसे तो यहां वीआईपी सुविधा मिल रही है, थाने में पैर पर पैर रखे बैठा है, सिगरेट मिल रही है, होटल का खाना खिलाया जा रहा है।

जवाब : सिगरेट पिला दी होगी, किसने पिलाई, मैं पता करता हूं। खाना खाने के लिए या फ्रेश होने के लिए छोड़ा होगा।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket