इंदौर। माता-पिता स्कूल की फीस नहीं भर पाएं तो 12वीं की होनहार छात्रा ने मोबाइल चुराकर ढाई हजार रुपए में गिरवी रखवा दिया, ताकि वो स्कूल की फीस भर सके। मोबाइल मालिक ने शक जताते हुए जब उससे पूछताछ की तो छात्रा ने सारी बात बता दी। उसकी इस बात को सुनकर मोबाइल मालिक ने ही स्कूल फीस भरने का फैसला लिया और साथ ही यह भी वादा किया कि अच्छे से पढ़ाई करने पर वो छात्रा की नौकरी भी लगवाएंगे। जानकारी के मुताबिक इंदौर के सुदामा नगर इलाके में रहने वाले धीरज दुबे का महंगा मोबाइल दो अगस्त को उनके घर से गायब हो गया था। धीरज पेशे से डिटेक्टिव हैं, उन्होंने उस दिन घर आए लोगों की लिस्ट बनाई। इस दौरान उन्हें घर में काम करने वाली महिला के साथ आई उसकी 16 साल की बेटी पर शक हुआ। इस बीच उन्होंने अपना मोबाइल फोन चोरी होने की शिकायत द्वारकापुरी पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई थी।

घटना के बाद से ही वो अपनी मां के साथ फिर उनके घर नहीं आई थी। शक के आधार पर जब धीरज ने उसे घर बुलाकर बात की तो उसने पहले तो मोबाइल चुराने से इनकार कर दिया। लेकिन जब उन्होंने उसे भविष्य खराब होने की बात कही तो छात्रा ने सबकुछ कह दिया। उसने बताया कि वो 12वीं की छात्रा है और मां-बाप के पास पैसे नहीं होने के कारण वे स्कूल फीस नहीं भर पाए थे। वो नहीं चाहती थी कि उसकी पढ़ाई रूके। 11वीं की परीक्षा में भी उसे अच्छे अंक मिले थे। इसलिए उसने मोबाइल चुराकर अपने एक दोस्त के जरिए ढ़ाई हजार रुपए में गिरवी रख दिया।

यह बात सुनते ही धीरज दुबे ने कहा कि मैं तुम चिंता मत करो मैं तुम्हारे स्कूल की फीस जमा करुंगा और उसे यह भी कहा कि मन लगाकर पढ़ों तो मैं तुम्हारी नौकरी भी लगवा दूंगा। छात्रा के भविष्य को देखते हुए उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस को नहीं की।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020