इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। डालर की मजबूती और यूक्रेन व रूस के विवाद में अमेरिकी दखल के साथ मध्यपूर्व के राजनीतिक तनाव से सोने को मजबूती मिल रही है। डालर इसलिए भी मजबूत हो रहा है क्योंकि फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरें बढ़ाने के संकेत मिल रहे हैं। यूएस फेड की 25 और 26 जनवरी को बैठक होना है। माना जा रहा है कि फेड मानिटरी पालिसी और कठोर कर सकता है। विश्व के बढ़े निवेशकों की निगाह इस बैठक पर टिकी है और वे मान रहे हैं कि बैठक के निर्णय सोने को महंगा करेंगे। लिहाजा उनकी खरीदी तेजी से सोने में दिख रही है।

भारत और चीन में सोने की खरीदी अच्छी बनी हुई है। साथ ही बजट से उम्मीद की जा रही है कि सरकार कस्टम ड्यूटी कम करेगी। हालांकि कस्टम ड्यूटी कम करने को जीएसटी बढ़ाकर भी समायोजित किया जा सकता है। इससे बाजार में सोने के दाम घटने की उम्मीद नहीं है। चीन ने मार्टगेज का रिफरेंस रेट दो साल बाद घटाया है। पीपुल्स बैंक आफ चाइना ने रिफरेंस रेट को 3.80 से घटाकर 3.7 प्रतिशत कर दिया है। इससे चीन के औद्योगिक मांग को भी गति मिलने की उम्मीद है। रुपये की तुलना में डालर की कीमतों में आई मजबूती और शेयर मार्केट में लगातार गिरावट के चलते निवेशकों की रुझान सोने और चांदी की तरफ बढ़ता जा रहा है।

कामेक्स पर सोना 29 डालर उछलकर ऊपर में 1844 नीचे में 1837 डालर प्रति औंस और चांदी 58 सेंट बढ़कर ऊपर में 24.25 नीचे में 24.06 डालर प्रति औंस पर कारोबार करती देखी गई। इसके चलते इंदौर मार्केट में सोना ढाई महीने बाद फिर 50 हजार रुपये के पार पहुंच गया। शुक्रवार को इंदौर में सोना 475 रुपये उछलकर 50050 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। वहीं चांदी 1000 रुपये उछलकर 65 हजार पार 65100 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई। इससे पहले 11 नवंबर 2021 में सोना 50400 रुपये बिका था।

बंद भाव : इंदौर में सोना केडबरी-रवा 50050 सोना (आरटीजीएस) 50050 सोना 22 कैरेट (91.60) 45845 रुपये प्रति दस ग्राम बोला गया। बुधवार को सोना 49575 रुपये पर बंद हुआ था। चांदी चौरसा 65100 चांदी कच्ची 65200 चांदी (आरटीजीएस) 65200 रु. प्रति किलो रह गई। बुधवार को चांदी 64200 रुपये पर बंद हुई थी।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local