इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। देश में गोल्ड एक्सचेंज स्थापित करने का खाका पेश हो चुका है। सेबी की निगरानी में सरकार गोल्ड एक्सचेंज स्थापित करने जा रही है। उम्मीद की जा रही है कि आम बजट में इसकी घोषणा होगी और अप्रैल से कामकाज शुरू होगा और गोल्ड स्पाट ट्रेडिंग हो सकेगी। इससे भारतीय बाजारों में सोने के दाम सीधे अंतरराष्ट्रीय बुलियन एक्सजेंच से जुड़ जाएंगे। साथ ही ज्वेलर्स सीधे विदेश से सोना आयात कर सकेंगे। गोल्ड एक्सचेंज में इलेक्ट्रानिक गोल्ड रिसिप्ट के बाद सोने की डिलीवरी भी ली जा सकेगी। ज्वेलर्स के लिए टीडीएस और टीसीएस जैसे करों की बचत भी होगी। एक्सचेंज के लिए जरूरी वाल्ट आपरेटरों ने आगे आकर सरकार को आवेदन कर दिया है। एक्सचेंज का सीधा प्रभाव एमसीएक्स पर पड़ेगा। साथ ही सोने-चांदी में सट्टेबाजों की तेजी-मंदी पर भी काबू पाया जा सकेगा।

अंतरराष्ट्रीय बुलियन वायदा मार्केट में सप्ताह के अंतिम कारोबारी दिवस शुक्रवार को भारी सट्टेबाजी के चलते सोने और चांदी में जोरदार तेजी दर्ज की गई। कामेक्स पर सोना बढ़कर ऊपर में 1829 नीचे में 1819 डालर प्रति औंस और चांदी भी बढ़कर ऊपर में 23.30 नीचे में 23.02 डालर प्रति औंस पर कारोबार करता देखा गया। इससे इंदौर मार्केट में पांचे दिन भी तेजी का वातावरण रहा। इंदौर में सोना केडबरी 225 रुपये उछलकर 49575 रुपये प्रति दस ग्राम और चांदी 400 रुपये बढ़कर 63400 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई। हालांकि बाजार में भी गहनों में अच्छी पूछताछ देखने को मिल रही है।

बंद भाव: इंदौर में सोना केडबरी-रवा 49575 सोना (आरटीजीएस) 49575 सोना 22 कैरेट (91.60) 45410 रुपये प्रति दस ग्राम बोला गया। गुरुवार को सोना 49350 रुपये पर बंद हुआ था। चांदी चौरसा 63400 चांदी कच्ची 63450 चांदी (आरटीजीएस) 63200 रु. प्रति किलो रह गई। गुरुवार को चांदी 63000 रुपये पर बंद हुई थी।

-

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local