- तोड़ेंगे 51 हजार की इनामी राशि वाली 35 मटकी, इस्कान मंदिर में बन रहा 30 हजार वर्गफीट का पांडाल

Janmashtami 2022: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहरभर के कृष्ण मंदिरों पर कृष्ण जन्माष्टमी की तैयारियां शुरू हो गई है। इस अवसर पर शहर के प्राचीन गोपाल और बांके बिहारी मंदिर को फूलों और विद्युत बल्पों से रोशन किया जाएगा। इसके साथ ही भगवान को नवीन पोषाकें पहनाकर भोग भी लगेगा। इस्कान के राधा गोविंद मंदिर में 30 हजार वर्गफीट का पांडाल बनाया जा रहा है। इसमें 40 बाय 60 का मंच होगा। यशोदा माता मंदिर में अभिषेक, पूजन और शृंगार होगा।

भगवान योगेश्वर के आगमन की घड़ी नजदीक आते ही कृष्ण मंदिर में साज-सज्जा शुरू हो गई है। इस बार कृष्ण जन्माष्टमी दो दिन मनाई जाएगी। इस दौरान हाथी, घोड़ा, पालकी जय कन्हैयालाल की जयघोष हर ओर गूंजेंगे। शहर के स्मार्त मत के प्राचीन बांके-बिहारी और गोपाल मंदिर में 18 अगस्त को और वैष्णवमतानुसार यशोदा और इस्कान मंदिर में 19 अगस्त को जन्म आरती होगी।

ज्योर्तिविद् आचार्य शिवप्रसाद तिवारी के अनुसार के अनुसार अष्टमी 18 अगस्त को रात 9.20 से 19 अगस्त 10.59 बजे तक रहेगी। रोहिणी नक्षत्र 19 अगस्त को एक बजकर 53 मिनिट से अगले दिन तड़के 4.40 मिनट तक रहेगी।कृष्ण जन्माष्टमी अक्सर दो अलग-अलग दिन मनाई जाती है। पहले दिन स्मार्त सम्प्रदाय और दूसरे दिन वाली वैष्णव सम्प्रदाय के लिए होती है।

फूलों से होगी सज्जा, लगेगा भोग

राजवाड़ा स्थित बांके बिहारी मंदिर की पुजारी तपस्वी विमलाबाई के अनुसार 18 अगस्त को मंदिर की परंपरानुसार जन्माष्टमी मनाई जाएगी। इस मौके पर मंदिर पर आकर्षक साज-सज्जा होगी। भगवान को नवीन वस्त्र पहनाए जाएंगे। इसके बाद रात 12 बजे जन्म आरती होगी। गोपाल मंदिर राजवाड़ा के बालमुकुंद पारशर ने बताया कि स्मार्त मत अनुसार 18 को अगस्त को मध्यरात्रि में भगवान की जन्म आरती होगी। इसमें हजारों कृष्ण भक्त भाग लेंगे।मंदिर को 50 हजार बल्पों से सजाया जाएगा। इसके साथ ही झांकी भी बनेगी।

इस्कान में 30 हजार फीट का पांडाल, हर कृष्ण लीला का मंचन

19 अगस्त को जन्माष्टमी का मुख्य महापर्व मनाया जाएगा। इस दिन राधा-गोविंद मंदिर में पूरे दिन दर्शन होंगे तथा शाम 7 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम, रात 10.30 बजे अभिषेक एवं रात 12 बजे महाआरती होगी। 20 अगस्त को नंद उत्सव एवं श्रील प्रभुपाद व्यास पूजा उत्सव सुबह 11 बजे से मनाए जाएंगे। 4 सितंबर को सुबह अभिषेक एवं दोपहर में राधाष्टमी के उपलक्ष्य में विभिन्न स्वामी महामनदास और संयोजक हरि अग्रवाल ने बताया कि जन्माष्टमी की तैयारियां बड़े स्तर पर की जा रही है। यहां करीब 30 हजार फीट का पांडाल और 40 बाय 100 का मंच बनाया जा रहा है। साथ ही प्रतिदिन शाम 7 बजे भगवान कृष्ण की विभिन्न लीलाओं पर आधारित संगीतमय कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

51 हजार की इनामी राशि वाली मटकी

संस्था सृजन द्वारा 19 अगस्त को गोराकुंड पर मटकी फोड का आयोजन किया जाएगा। अध्यक्ष कमलेश खंडेलवाल ने बताया कि इसमें 51 हजार की मटकी 35 फीट उंची बांधी जाएगी। प्रतियोगिता 16 वर्षो से आयोजित की जा रही है। इसमें 16 टीमे भाग लेगी। टीमे बंबई, देवास, महू, धार, राऊ, देपालपुर, बेटमा की टीम भाग लेगी।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close