इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि), Happy Mother's Day 2021। एक मां खुद चाहे कितने भी कष्ट उठा ले लेकिन अपने बच्चों के लिए हमेशा तैयार रहती है। मदर्स डे पर हम आपको एक ऐसी ही मां से मिलवा रहे हैं जिन्होंने अपने काम और मां के फर्ज में बखूबी तालमेल बनाते हुए दोनों जिम्मेदारी निभाई। ये हैं एमजी रोड थाना की प्रधान महिला आरक्षक अनिता शर्मा। पिछले साल बीमार पड़े बेटे की देखभाल के लिए संतान पालन अवकाश लिया था, लेकिन उसे बीच में खत्म कर कोरोना महामारी में ड्यूटी करने पहुंच गईं। ड्यूटी के वक्त भी अपने बेटे का बराबर ध्यान रखा। ड्यूटी के दौरान वीडियो काल कर बेटे को दवाइयां भी समय पर दिलवाई। इसमें अनिता को परिवार का भरपूर सहयोग मिला। महिला पुलिसकर्मी अनिता बताती हैं पिछले साल फरवरी में 13 वर्षीय बेटे को लिवर में इंफेक्शन हो गया था। उसकी देखभाल के लिए छह महीने की छुट्टी ले रखी थी।

मार्च में लाकडाउन लगा, जिसमें लोगों को परेशान होता देख मुझसे रहा नहीं गया। मैंने तुरंत ड्यूटी जाइन करने का विचार किया। परिवार और वरिष्ठ अधिकारियों ने बेटे की देखभाल करने को बोला। परिवार के सदस्यों को थोड़ा समझाया। फिर उन्होंने मुझे अनुमति दे दी। ड्यूटी के दौरान बेटे से वीडियो काल पर बातचीत करती थी। पति को दवाइयों के बारे में बताया और समयसमय पर देने को कहा। फिलहाल बेटे की तबीयत अच्छी है। वे बताती हैं इस साल फिर लाकडाउन लगा।

मैंने फिर फील्ड पर ड्यूटी करने को चुना। संक्रमण की दूसरी लहर से हर कोई डरा हुआ है। परिवार वाले भी समय-समय पर मेरा हौसला बढ़ाते हैं। अनिता बताती हैं गर्मी का मौसम देखकर बेटे ने मुझे अपने साथियों के लिए केरी का पना लेकर जाने को बोला। फिर मैंने सोचा कि सफाईकर्मी, सुरक्षाकर्मी और स्वास्थ्यकर्मियों को भी इसकी जरूरत है। इसलिए रोज केरी का पना घर से बनाकर ले जाती हूं।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local