Health Tips : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आंखों को स्वस्थ रखना है तो कंप्यूटर, मोबाइल और लैपटाप का इस्तेमाल कम से कम करें। अक्सर देखने में आता है कि ठंड के मौसम में लोग पानी कम पीते हैं। यह आंखों को नुकसान पहुंचाता है। शरीर में पानी की कमी से आंखों में सूखापन आने लगता है। कंप्यूटर कम से कम 20 इंच दूरी से चलाएं। इस मौसम में पर्याप्त सब्जियां और फल मिलते हैं।

यह बात वरिष्ठ नेत्ररोग विशेषज्ञ डा. प्रदीप गोयल ने नईदुनिया से चर्चा में कहीं। उन्होंने कहा कि आंखों को स्वस्थ रखना है तो गाजर, मूली, पालक और अन्य हरी सब्जियों का सेवन करें। जिन लोगों को लैपटाप या कंप्यूटर पर लगातार काम करना पड़ता है, वे 20-20-20 का फार्मूला अपनाएं। यानी हर बीस मिनट बाद 20 सेकंड का ब्रेक लें और 20 फीट दूर स्थित किसी वस्तु को देखें। मोबाइल चलाने में भी अतिरिक्त सावधानी जरूरी है। मोबाइल अंधेरे में न देखें न ही मोबाइल का लाइट बहुत तेज रखें। अगर आपको मधुमेह है तो आपको हर छह माह में आंखों की नियमित जांच करवा लेनी चाहिए।

अंधेरा करके मोबाइल न देखें - डा. गोयल ने कहा कि जीवन शैली में बदलाव की वजह से आंखों की बीमारियां बढ़ी हैं। कोरोनाकाल में बच्चे आनलाइन क्लासों में शामिल हुए। उन्होंने जमकर मोबाइल और लैपटाप का इस्तेमाल किया। इसका विपरीत असर बच्चों की आंखों पर पड़ा है। कई बच्चे अंधेरा करके मोबाइल देखते हैं। यह आंखों को कमजोर करता है।

जिन्हें मधुमेह है, वे रखें विशेष ख्याल - वे लोग जो मधुमेह से पीड़ित हैं, उन्हें तो आंखों की विशेष देखभाल करना चाहिए। मधुमेह का सबसे पहला असर आंखों पर ही पड़ता है। इन लोगों को अन्य लोगों के मुकाबले मोतियाबिंद भी जल्दी होता है। अगर कोई मधुमेह से पीड़ित है तो उसे नियमित रूप से हर छह माह में अपनी आंखों की जांच करवा लेनी चाहिए। डाक्टर के दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए। मोबाइल इस्तेमाल करते वक्त ध्यान रखें कि मोबाइल की लाइट बहुत ज्यादा न हो।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close