इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना जांच पाजिटिव आने का मतलब है कि वायरस आपके शरीर में है। इसे हल्के में लेना भारी पड़ सकता है। हो सकता है कि आपकी रिपोर्ट पाजिटिव हो, लेकिन कोई लक्षण नहीं हों। ऐसे में आपको खुद को घर में आइसोलेट कर लेना चाहिए। संक्रमितों की संख्या बढ़ने का कारण लक्षण नहीं होने पर इसे गंभीरता से नहीं लेना है। शरीर में मौजूद वायरस कब आक्रमक रूप ले लेगा, यह कहा नहीं जा सकता। संक्रमित व्यक्ति में भले ही कोई लक्षण नजर न आएं, लेकिन वह दूसरों को संक्रमित तो कर ही सकता है। सामान्य सर्दी-जुकाम और कोरोना के बीच अंतर कर पाना आसान नहीं है। जरूरी है कि सर्दी-जुकाम होने पर भी वैसी ही सावधानी बरती जाए, जैसी कोरोना होने पर बरती जाती है।

यह बात श्वसन तंत्र विशेषज्ञ डा. शैलेंद्र जैन ने नईदुनिया के साप्ताहिक कार्यकम हेलो डाक्टर में कही। कोरोना को लेकर पाठकों के सवालों के जवाब देते हुए डा. जैन ने बताया कि ऐसे लोग जिनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई है लेकिन उनमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं हैं, उन्हें भी कोविड प्रोटोकाल का पूरा पालन करना चाहिए। ऐसे लोगों को तय समय के लिए खुद को आइसोलेटेड कर लेना चाहिए। ऐसे लोग घर में भी खुद को दूसरों से अलग रखें क्योंकि उनकी वजह से परिवार के अन्य स्वजन भी संक्रमित हो सकते हैं।

पाठकों के सवाल, डा.जैन के जवाब

सवाल - किसी व्यक्ति को सामान्य सर्दी-जुकाम है या कोरोना, यह कैसे पता चलेगा। मैं व्यापारी हूं। दिनभर में कई लोगों से मिलता हूं। अक्सर दुकान पर आने वाले ग्राहकों को सर्दी होती है। मैं क्या करूं? - मनीष वर्मा, देवास

जवाब - सामान्य सर्दी-जुकाम है या कोरोना, यह सिर्फ जांच से ही पता चल सकता है। सर्दी-जुकाम के साथ अगर किसी व्यक्ति को बुखार, बदन दर्द, कमजोरी है तो उसे जांच जरूर करानी चाहिए। आप लोगों से मिलते वक्त शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें। मास्क जरूर पहनें और कोरोना के दोनों टीके जरूर लगवा लें।

सवाल - ओमिक्रोन में खांसी कितने दिन रहेगी? - विनोद मूढत, बोरखेड़ा

जवाब - ओमिक्रोन कोरोना का ही एक वैरिएंट है। ऐसा कोई शोध नहीं है जो यह बताए कि किस वैरिएंट में खांसी कितने दिन रहेगी। सामान्यत: कोरोना के लक्षण सात दिन में समाप्त हो जाते हैं। महत्वपूर्ण यह है कि इलाज कितनी जल्दी शुरू किया है। जितनी जल्दी इलाज शुरू करेंगे, फायदा उतनी जल्दी होगा।

सवाल - मैं एक दिसंबर को पाजिटिव आई थी। आठ दिसंबर को मेरी रिपोर्ट निगेटिव आ गई। क्या मैं सतर्कता डोज लगवा सकती हूं? - अलका बाजपेई, इंदौर

जवाब - दूसरे टीके के नौ महीने बाद सतर्कता डोज लगवाई जा सकती है। चूंकि आपको कुछ दिन पहले ही कोरोना हुआ था इसलिए आपको अभी सतर्कता डोज लगवाने के लिए इंतजार करना चाहिए। आप एक महीने बाद इसे लगवा सकती हैं।

सवाल - मेरी बेटी को दो दिन से बुखार है। उसे 15 दिन से खांसी भी चल रही है। उसकी रिपोर्ट पाजिटिव आई है। क्या घर पर रहकर उसका इलाज हो सकता है। - प्रभा गर्ग, धामनोद

जवाब - चूंकि रिपोर्ट पाजिटिव है और लक्षण भी गंभीर हैं ऐसी स्थिति में आपको बेटी को तुरंत अस्पताल में भर्ती कराना चाहिए। ऐसे स्थिति में घर पर रखना नुकसान पहुंचा सकता है। कोरोना है तो पूरा इलाज जरूरी है।

सवाल - मेरे पड़ोस में रहने वाली महिला की रिपोर्ट चार दिन पहले पाजिटिव आई है। मुझे कितने दिन तक संक्रमित होने का खतरा है? - सुनील जैन, इंदौर

जवाब - आपको कम से कम 10 दिन तक विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें। मास्क जरूर पहनें।

सवाल - सर्दी-जुकाम सामान्य है या कोरोना, यह कैसे पहचानेंगे? - सुभाष केपी श्रीवास्तव, इंदौर

जवाब - सर्दी-जुकाम के साथ सांस लेने में दिक्कत, कमजोरी, बदन दर्द, थकान है तो आपको तुरंत जांच करवानी चाहिए। कोरोना की तीसरी लहर चल रही है। बहुत ज्यादा जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें। सार्वजनिक आयोजनों में जाने से बचें।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local