Hello Naidunia : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। अब तकनीक की दुनिया में कई ऐसे बदलाव हो रहे हैं जिससे कई कार्यों का आटोमेशन हो रहा है। एक जैसी प्रक्रिया के लिए बार-बार इंसान पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। तकनीक खुद विभिन्न तरह के परिणामों को जानकर किसी भी तरह की मशीन या प्रक्रिया को खुद कर देगी। इसमें वाहन को नियंत्रित करना हो या आपकी सेहत से जुड़ी जानकारी। तकनीक खुद विभिन्न तरह की जानकारी एकत्रित कर संकेत दे सकती है कि आपको किस समय क्या करना चाहिए। इससे कई कार्य आसान हो गए हैं। तकनीक खुद पुराने परिणामों के आधार पर नए परिणाम आपके सामने पेश कर देगी। इससे कई तरह के फैसले लेना भी आसान हो रहा है।

यह कहना है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और डिजिटल मीडिया विशेषज्ञ मयूर सेठी का। मंगलवार को हेलो नईदुनिया कार्यक्रम में उन्होंने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्षेत्र में करियर, जिज्ञासाएं और समाधान विषय पर शहरवासियों की ओर से आए फोन काल पर प्रश्नों के उत्तर दिए। उन्होंने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ) कुछ इन्हीं कामों को पूर्ण करने में मदद करता है। भविष्य में इसके कई बदलाव देखने को मिलेंगे इसलिए इस क्षेत्र में करियर की बेहतर संभावनाएं हैं।

पाठकों ने पूछे कई सवाल -

सवाल - मैंने देवी अहिल्या विश्वविद्यालय से एआइ के क्षेत्र में कोर्स किया है। मुझे इस क्षेत्र में भविष्य की संभावनाओं की जानकारी चाहिए। - वंशिका गर्ग, इंदौर

उत्तर - दुनिया की सभी बड़ी कंपनियां एआइ का उपयोग कर रही हैं। आपके आसपास भी आप कई ऐसी चीजों को देख रहे होंगे जिसमें एआइ से आपको बेहतर सुविधाएं देने की कोशिश की जा रही हैं। मोबाइल एक अच्छा उदाहरण है। इसमें कई तरह के डाटा एकत्रित कर कंपनियों और उपयोगकर्ता की जरूरत के साधन उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है। टेस्ला जैसी कंपनी एआइ आधारित कार तैयार कर रही है। कई और भी क्षेत्र हैं जिससे अगले वर्षों में एआइ की मांग बनी रहेगी।

सवाल - एआइ क्या है? इसका उपयोग कैसे होता है? - अशलम दुलावत, खरसौदकला

उत्तर - एआइ का मतलब है कृत्रिम बुद्धिमत्ता। एआइ से किसी भी कंप्यूटरीकृत मशीन में सोचने-समझने और निर्णय लेने की क्षमता विकसित की जाती है। कंप्यूटर, मोबाइल, रोबोट्स, मशीनों आदि में अब एआइ का बहुत उपयोग हो रहा है। सीरी, एलेक्सा और ओके गूगल जैसे मोबाइल असिस्टेंट एप भी एआइ का ही रूप हैं। भारत सरकार ने एआइ के क्षेत्र में विकास की नई योजनाएं बनाई हैं।

सवाल - एआइ की शिक्षा प्राप्त करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? - अनिल कवचाले, इंदौर

उत्तर - इस क्षेत्र में जाने के लिए 10वीं कक्षा से ही तैयारी शुरू की जा सकती है। अगर इस क्षेत्र में करियर बनाने का मन है तो 10वीं कक्षा से ही गूगल के माध्यम से इसकी संपूर्ण जानकारी लेना शुरू कर देना चाहिए। कई तरह की लाइब्रेरी और वीडियो भी इंटरनेट पर उपलब्ध हैं। कई तरह के आनलाइन सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स भी किए जा सकते हैं। 12वीं के बाद एआइ में इंजीनियरिंग कर सकते हैं। छह महीने से दो साल के डिप्लोमा कोर्स भी अच्छे शिक्षण संस्थान करा रहे हैं। एमबीए और बीबीए के पाठ्यक्रम में भी अब एआइ जैसा विषय पढ़ाया जाने लगा है।

सवाल - मैंने एमकाम की पढ़ाई की है। पीजीडीसीए कोर्स भी किया है। अब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में करियर बनाना चाहता हूं। इसके लिए क्या करना होगा? - जितेंद्र अमरचंद जैन, इंदौर

सवाल - पहले अपनी रुचि जानने की कोशिश करें। एआइ पर आधारित कई किताबें बाजार और इंटरनेट पर उपलब्ध हैं। कुछ प्रैक्टिकल कार्य भी इंटरनेट पर करके देख सकते हैं। अगर आपको कोडिंग में रुचि है तो इस क्षेत्र में जा सकते हैं। अगर कंप्यूटर और साफ्टवेयर क्षेत्र की बेसिक जानकारी स्पष्ट है तो एक से दो वर्ष में आप इसमें करियर की शुरुआत कर सकते हैं। कई नामी विश्वविद्यालय और प्राइवेट संस्थान आफलाइन और आनलाइन बहुत कम फीस में कोर्स उपलब्ध करा रहे हैं।

सवाल - क्या इस क्षेत्र में जाने के लिए कोई उम्र निर्धारित है। डाटा साइंस और एआइ में क्या अंतर है? - राजीव अग्रवाल, देवास

उत्तर - विद्यार्थियों में इंटेलिजेंस से जुड़ी चीजों को जानने और समझने की जिज्ञासा सामान्यत: 18 वर्ष के बाद ज्यादा आती है। ऐसे में इस कोर्स को 18 वर्ष की उम्र के बाद करते हैं तो ज्यादा बेहतर है। हालांकि, कई स्कूलों के बच्चे इसमें अभी से बेहतर कार्य कर रहे हैं। ऐसे में यह आपकी रुचि पर निर्भर करता है कि आप एआइ से संबंधित तकनीक और इससे किए जाने वाले कार्यों की रूपरेखा कैसे बनाते हैं।

सवाल - मैंने स्नातक डिग्री नान आइटी कोर्स में किया है। अब आइटी क्षेत्र में जाना चाहता हूं। इसके लिए क्या करना होगा? - हरिओम पाटिल, इंदौर

सवाल - आप पहले से आइटी क्षेत्र की दुनिया को समझते हैं इसलिए आप किसी भी अच्छे संस्थान से आनलाइन या आफलाइन कोर्स कर सकते हैं। छह महीने से लेकर दो वर्ष के दौरान के डिप्लोमा कोर्स के बाद आप इसमें बेहतर भविष्य बना सकते हैं। डाटा साइंस की बात करें तो इसका स्तर एआइ से ऊपर है। डाटा होंगे तो एआइ से और बेहतर कार्य कराया जा सकता है। दोनों में अगले वर्षों में करियर की बेहतर संभावनाएं बनी हुई हैं।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close