Hello Naidunia : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कौशल आधारित पाठ्यक्रम को लेकर इन दिनों विद्यार्थी काफी रुचि दिखा रहे हैं। विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े 25 पाठ्यक्रम आइटीआइ इंदौर में संचालित हो रहे हैं। इनमें इलेक्ट्रानिक्स मैकेनिक, फैशन डिजाइन, फिटर, इलेक्ट्रिशियन, स्टेनोग्राफर, कंप्यूटर आपरेटर एंड प्रोग्राम, इंडस्ट्रियल पेंटर सहित कई पाठ्यक्रम शामिल हैं। बीते साल एक हजार विद्यार्थियों ने एक व दो वर्षीय पाठ्यक्रम में दाखिला लिया है। इस बार छह महीने वाले पाठ्यक्रम भी रखे हैं।

यह बात इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट (आइटीआइ) इंदौर के संभागीय प्राचार्य जीएस शाजापुरकर ने कही। मंगलवार को हेलो नईदुनिया कार्यक्रम के माध्यम से उन्होंने कौशल आधारित पाठ्यक्रमों के बारे में विद्यार्थियों और अभिभावकों को जानकारी दी। शाजापुरकर ने कहा कि आइटीआइ से संचालित होने वाले पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया चल रही है। 7 से 15 अगस्त तक ओपन राउंड काउंसलिंग रखी है। विद्यार्थी अपने पसंदीदा पाठ्यक्रम में पंजीयन करवा रहे हैं। विद्यार्थियों को चाइस फिलिंग भी करना है। 23 अगस्त को सीट आवंटित की जाएगी। सूची जारी होने के बाद विद्यार्थियों को तीन दिन में फीस जमा करनी है। इसके बाद कालेज लेवल काउंसलिंग (सीएलसी) और पहले आओ पहले पाओ के तहत विद्यार्थियों को प्रवेश देंगे। यह दोनों चरण 10 सितंबर तक चलेंगे।

वर्कशाप को किया अपडेट - शाजापुरकर बताते हैं नंदानगर स्थित आइटीआइ में टर्नर, फिटर और मशीन वाले विद्यार्थियों के लिए वर्कशाप है। उसे अपडेट किया जा रहा है। नई मशीन संस्थान में पहुंच चुकी है। उसका इंस्टालेशन किया जा रहा है। केंद्र सरकार आइटीआइ की वर्कशाप को आधुनिक बनाने में लगी है। प्रत्येक वर्कशाप पर पांच से सात करोड़ खर्च किए जा रहे हैं, ताकि विद्यार्थियों को उद्योगों में उपयोग होने वाली मशीनों के बारे में बताया जा सके।

पाठकों के सवाल, विशेषज्ञ के जवाब

प्रश्न - कितनी अवधि वाले पाठ्यक्रम आइटीआइ इंदौर से संचालित हो रहे हैं? - राजीव अग्रवाल, देवास

उत्तर - आइटीआइ में 25 पाठ्यक्रम संचालित होते हैं। कुछ पाठ्यक्रमों की अवधि छह महीने की है। कुछ पाठ्यक्रमों की अवधि एक और दो वर्ष रखी है, जिसमें इंडस्ट्री में प्रशिक्षण भी विद्यार्थियों को दिया जाता है। कई संस्थानों से आइटीआइ का अनुबंध है।

प्रश्न - प्रवेश को लेकर आइटीआइ के क्या नियम हैं? -विष्णु जैन, खुड़ैल

उत्तर - आइटीआइ पाठ्यक्रम में 10वीं पास उम्मीदवार प्रवेश ले सकते हैं। इनमें आयु सीमा की कोई बाध्यता नहीं रहती है। कई बार इंडस्ट्री में काम करने वाले भी निजी आइटीआइ में प्रवेश लेकर सर्टिफिकेट लेते हैं।

प्रश्न - निजी आइटीआइ में संचालित पाठ्यक्रम की कक्षाओं में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाना जरूरी है। थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों का ज्ञान बराबर देना चाहिए? - विनोद कुमार, झाबुआ

उत्तर - इंदौर आइटीआइ से संचालित पाठ्यक्रम में थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों कक्षाएं लगती हैं। यहां तक इंडस्ट्री से अनुबंध कर विद्यार्थियों को वहां भी प्रशिक्षण दिलवाया जाता है। वैसे निजी आइटीआइ हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं आती है।

प्रश्न - आइटीआइ संस्थान में प्रवेश को लेकर मापदंड क्या तय कर रखे हैं? -अनिल कवछाले, गुमाश्ता नगर

उत्तर - आइटीआइ में संचालित कोर्स में आनलाइन प्रवेश होते हैं। 10वीं पास विद्यार्थी आवेदन कर सकता है। फिर प्राप्त आवेदन की मेरिट बनाई जाती है। उसके आधार पर कोर्स की सीटें आवंटित होती हैं। इंदौर आइटीआइ में 60 प्रतिशत से ऊपर अंक वाले विद्यार्थियों को प्रवेश मिलता है।

प्रश्न - मेरी बेटी ने कृषि विषय में बीएससी किया है। क्या उसके भविष्य के लिए कोई पाठ्यक्रम है? -असलम दुलावत, इंदौर

उत्तर - बीएससी करने के बाद बेटी को कृषि क्षेत्र में भविष्य बनाना चाहिए। आइटीआइ से ट्रैक्टर मैकेनिक पाठ्यक्रम संचालित होता है, जो उनके लिए काफी फायदेमंद होगा। इसमें प्रवेश के लिए 15 अगस्त तक पंजीयन करवा सकते हैं।

प्रश्न - दोपहिया और चार पहिया वाहनों के लिए क्या कोर्स रखे गए हैं? -सुभाष श्रीवास्तव, इंदौर

उत्तर - 10वीं पास विद्यार्थी मोटर मैकेनिक कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं, जिसमें वाहनों से संबंधित मशीनों के बारे में बताया जाता है। आइटीआइ में अलग से वर्कशाप भी बनी है। जहां विद्यार्थियों को प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close